पाकिस्तान ने फिर दिखाई पीठ, भारत ने कहा ले जाओ अपने घुसपैठिए जवानों की लाश
         Date: 22-Oct-2018

 
जम्मू कश्मीर में पाकिस्तानी सेना की बॉर्डर एक्शन टीम द्वारा की गई नाकाम घुसपैठ के बाद एक बार फिर उसका कायराना चेहरा उजागर हुआ है। घुसपैठ के दौरान जवाबी हमले में मारे गये पाकिस्तानी जवानों की लाश को पाकिस्तान ने पहचानने से मना कर दिया है। दरअसल रविवार को राजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में एलओसी पर सेना ने पाकिस्तानी सेना के BAT (बॉर्डर एक्शन टीम) के 5-6 सदस्यों ने घुसपैठ करने की कोशिश की। भारतीय सुरक्षाबलों घुसपैठ को भांपकर उन पर जवाबी हमला किया। इसमें पाकिस्तानी BAT के 2 घुसपैठिये मारे गये। जोरदार कार्रवाई के बाद पाकिस्तानी घुसपैठिये अपने जवानों की लाशें छोड़कर वापिस भाग खड़े हुए।
 

 
घुसपैठियों से बरामद हथियार 
 
सोमवार को इंडियन आर्मी ने पाकिस्तानी आर्मी से संपर्क कर अपने हलाक जवानों की लाश ले जाने को कहा। साथ ही चेतावनी भी दी अगर भविष्य में ऐसी किसी घुसपैठ जैसी हरकत हुई तो माकूल जवाब दिया जायेगा। लेकिन पाकिस्तान ने हमेशा की तरह अपने जवानों की लाशों को लेने के लिए अब तक कोई पहल नहीं की है। बिल्कुल ऐसे जैसे पाकिस्तान ने कारगिल युद्ध के दौरान किया था ।
 
हालांकि इस मुठभेड़ में जवान राइफलमैन रजत कुमार, लांस नायक रंजीत सिंह और हवलदार कौशल कुमार भी शहीद हो गए। साथ ही एक सैनिक राकेश कुमार घायल हो गया, जिसका उपचार सेना कमान अस्पताल उधमपुर में चल रहा है। सोमवार को भारतीय सुरक्षाबलों ने तीनों शहीदों को अंतिम श्रद्धांजलि देकर विदा किया।
 

 
पाकिस्तानी हमले में शहीद जवान