शहीद रणजीत सिंह की अंतिम विदाई से पहले बेटी ने लिया जन्म
         Date: 23-Oct-2018
 
 
 
सुंदरबनी में शहीद रणजीत सिंह का पार्थिव शरीर जब रामबन स्थित घर पहुंचा तो उनकी पत्नी को रामबन के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी बेटी का जन्म हुआ। शहीद रणजीत सिंह की पत्नी शिमू देवी ने जिला अस्पताल रामबन में सुबह 5 बजे नन्ही सी परी को जन्म दिया लेकिन पूरा परिवार इस गम में था कि शहीद रणजीत सिंह जाने से पहले एक बार अपनी बेटी का चेहरा तक न देख पाये। 
 
आपको बता दें कि रणजीत सिंह रविवार को जम्मू कश्मीर के सुंदरबनी इलाके में पाकिस्तानी सेना की घुसपैठ को नाकाम करने की कोशिश में शहीद हो गये थे। इस ऑपरेशन में पाकिस्तानी बैट टीम के 2 घुसपैठिए भी मारे गये थे। रणजीत सिंह की शहादत की खबर आने के बाद उनकी पत्नी को सोमवार रात 11 के लगभग एंबुलेंस द्वारा अस्पताल पहुंचाया गया। सुबह 5 बजे शहीद की पत्नी ने बेटी को जन्म दिया।
 

 
 
अस्पताल प्रशासन ने बताया कि मां और बेटी दोनों स्वस्थ हैं। इसके बाद मंगलवार को शहीद रणजीत सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया । रणजीत सिंह की पत्नी बेटी के साथ श्रद्धांजलि देने पहुंची जिसके बाद नम आंखों से श्रद्धांजलि दी इस दौरान भारतीय सेना के वरिष्ठ अधिकारियों एवं सेना के दस्ते ने शहीद रणजीत सिंह को आखिरी सलामी दी जिसके बाद भाई ने मुखाग्नि दी । शहीद रणजीत सिंह की पत्नी ने कहा कि वो चाहती है कि उनकी बेटी भी बड़ी होकर आर्मी में भरती हो और देश की सेवा करे।