कश्मीर घाटी में अलगाववादियों ने भड़काई आग, बुधवार औऱ शुक्रवार को घाटी बंद का ऐलान
         Date: 23-Oct-2018

 
 
कुलगाम दुर्घटना में आम शहरियों की मौत के बाद घाटी में अलगाववादियों ने घाटी में आग भड़काने की कोई कसर नहीं छोड़ी है। अलगाववादियों के संगठन जेआरएल यानि JOINT RESISTENCE LEADERSHIP ने आने वाले बुधवार औऱ शुक्रवार को घाटी में बंद का ऐलान किया है। मंगलवार को भी अलगाववादियों के संगठन जेआरएल ने बंद का ऐलान किया था। इसको श्रीनगर के लाल चौक पर अलगाववादी यासीन मलिक ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया। जहां उसको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा पुलिस ने दूसरे अलगाववादी ने मीरवाइज उमर फारूख को भी निगीन पुलिस स्टेशन के पास हिरासत में ले लिया गया। बंद के कारण श्रीनगर में सामान्य जनजीवन प्रभावित रहा।
 
 
 
अलवागवादी संगठन JRL ने लोगों को बुधवार को बंद के साथ साउथ कश्मीर में कुलगाम में कूच करने को कहा है। बहाना है कि लोग कुलगाम दुर्घटना में मारे गये लोगों के घरवालों से मिलेंगे। इसके साथ ही शुक्रवार को जुम्मे की नमाज़ के बाद घाटी में प्रदर्शन करने का ऐलान किया गया है। इसका सीधा मतलब पत्थरबाज़ी से लिया जा सकता है। यानि अलगाववादी कुलगाम दुर्घटना के बहाने घाटी में पत्थरबाजी को बढ़ावा दे रहे हैं। बहरहाल जम्मू कश्मीर प्रशासन मामले को लेकर पूरी तरह सतर्क है।
 
 

 
इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ राज्य में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए श्रीनगर के दौरे पर हैं। यहां राजनाथ सिंह ने नैशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अबदुल्ला से मुलाकात कर राजनीतिक हालात पर बातचीत की। साथ ही राज्यपाल से मुलाकात का सिलसिला जारी है। तय है कि घाटी में आने वाले कुछ दिन सुरक्षा व्यवस्था के लिए मुश्किल साबित होने वाले हैं।