“आतंक का रास्ता छोड़ो, वरना मारे जाओगे’’-कश्मीरी आंतकियों को आर्मी चीफ की सीधी चेतावनी
         Date: 12-Nov-2018

 
 
आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने एक बार फिर आतंक का रास्ता चुनने वाले कश्मीरी नौजवानों को सीधी चेतावनी दी है कि या तो वो आतंक का रास्ता छोड़े वरना उनको खत्म करना ही सुरक्षाबलों के पास आखिरी रास्ता है। पठानकोट में मीडिया से बात करते हुए आर्मी चीफ ने कहा कि ‘’हमारी पहली कोशिश यहीं है कि कश्मीरी नौजवान आतंक का रास्ता न चुनें। क्योकिं इससे वो ज्यादा दिन तक जिंदा नहीं रह पायेंगे। साथ ही जिन नौजवानों ने आतंकी संगठन ज्वाइन कर लिया है। आर्मी उनके परिवारों को भी कह रही है कि बेहतर होगा कि वो सरेंडर कर दें। लेकिन अगर वो इसके बाद भी नहीं मानते है तो उनका न्य़ूट्रलाइज़ करना ही आर्मी के पास आखिरी रास्ता है बचता है।‘’
 
 
 
 
 
जाहिर है आर्मी चीफ का ये बयान घाटी में आतंक से निपटने के लिए आर्मी की स्पष्ट पॉलिसी को जाहिर करता है। यहीं वजह है कि पिछले कुछ दिनों से घाटी में आतंकियों के खात्मे का अभियान बड़े स्तर पर चल रहा है। लेकिन हाल ही में कई ऐसी खबरें भी सोशल मीडिया पर आय़ी जिसमें कश्मीरी नौजवनों ने आंतकी संगठनों में शामिल होने का दावा किया। हाल ही में नोएडा की शारदा यूनिवर्सिटी से गायब एहतिशाम बिलाल ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ज्वाइन किया था।
 
 
इस्लामिक स्टेट की वेबसाइट पर जारी किया गया एहतिशाम का पोस्टर