आतंकी आसिया अंदराबी के खिलाफ एनआईए ने फाइल की चार्जशीट
         Date: 15-Nov-2018

 
 
बुधवार को एनआईए ने पटियाला की स्पेशल एनआईए कोर्ट में आतंकी संगठन दुख्तरन-ए-मिल्लत की आसिया अंदराबी के खिलाफ चार्जशीट फाइल कर दी। आसिया के साथ सोफी फेहमीदा और नाहिदा नसरीन को भी आरोपी बनाया गया है। गौरतलब है कि आसिया अंदराबी को देशविरोधी, आंतकी योजनाओं में शामिल होने और पाकिस्तान की मदद से देश में आतंकी संगठन दुख्तरन-ए-मिल्लत चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। 27 अप्रैल 2018 को दिल्ली के एनआईए पुलिस स्टेशन में आसिया अंदराबी औऱ उसके साथियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 120B, 121, 121A, 124A, 153A, 153B औऱ 505 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके बाद 6 जुलाई 2018 को इस केस में तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। जिनको तिहाड़ जेल में रखा गया है।
  

चार्जशीट में आसिया अंदराबी पर आरोप
 
 
1. आसिया अंदराबी सोशल ट्विटर, फेसबुक, यूट्यूब, टीवी चैनल्स पर देश विरोधी, वैमनस्यपूर्ण कार्यक्रमों के जरिये देश को तोड़ने का काम कर रही थी। साथ ही जम्मू कश्मीर राज्य को भारत से तोड़कर पाकिस्तान में मिलाने की साजिश कर रही थी।
 
 
 
 
विदेश में WWE स्टार्स के साथ मौज़ उड़ाया आसिया का बेटा मुहम्मद बिन कासिम
 
 
2. एनआईए की जांच के दौरान पाया कि आसिया अंदराबी न सिर्फ भारत के जंग छेड़ने में सीधे शामिल थी, बल्कि राज्य में धर्म के आधार पर दंगे भड़ाकाने का काम भी कर रही थी। साथ ही आसिया अंदराबी हाफिज सईद औऱ लश्कर ए तैय्ब्बा जैसे पाकिस्तानी आतंकी संगठनों के साथ मिलकर कश्मीर के नौजवानों को देश के खिलाफ हथियार उठाने के लिए भड़का रही थी। जिसका सीधा मकसद था, जम्मू कश्मीर को पाकिस्तान में मिलाया जाना।
 
 
 
3. जांच में ये एनआईए ने पाया कि आसिया अंदराबी की साथी सोफी फहमीदा, जो कि दुख्तरन-ए-मिल्लत की प्रेस सेक्रेट्री थी और नाहिदा जो जनरल सेक्रट्री थी, तीनों मिलकर सोशल मीडिया औऱ दूसरे प्लैटफॉर्म के जरिये भारत के खिलाफ जंग छेड़ने में शामिल थी। इसके लिए फंड इकठ्ठा किया जा रहा था। जिसका इस्तेमाल घाटी में आतंक को बढ़ावा देने औऱ दंगे भड़काने में इस्तेमाल किया जा रहा था।
 
बहरहाल एनआईए की जांच अभी औऱ जारी है।