सेना ने निभाया आतंकी की मां से किया वादा, भारी फायरिंग के बावजूद भी आतंकी को जिंदा पकड़ा
         Date: 27-Nov-2018

 
 
जम्मू कश्मीर में आमतौर पर सेना के खिलाफ मानवाधिकारों के उल्लघंन का प्रोपेगंडा चलाया जाता है, लेकिन सेना इसकी परवाह किये बगैर घाटी के लोगों को दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ती। ऐसी ही एक बानगी देखने के मिली संडे अवंतीपोरा में एक एनकाउंटर के दौरान। जब सेना ने आतंकियों के साथ एक एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकी सुहैल अहमद लोन को मारने के बजाय जिंदा पकडा। क्योंकि सेना ने सुहैल की मां से वादा किया था कि उसे जिंदा पकड़ेंगे। नीचे दिये लिंक में सुहैल की मां और पिता घर-वापसी की गुहार कर रहे हैं।
 
 
 
दरअसल सेना औऱ सीआरपीएफ की एक टीम शनिवार से ही जैश-ए-मोहम्मद दो आतंकियों पर नजर रख रही थी। इसके लिए सेना ने बिजनारी इलाके में घेरा बंदी कर रखी थी। कुछ दिन पहले जैश-ए-मोहम्मद के कई ग्राउंड वर्कर भी गिरफ्तार किए गए थे। उनसे पाक आतंकी और सुहैल की लोकेशन का पता चला था। एनकाउंटर के दौरान सुहैल भी सुरक्षा बलों पर भारी फायरिंग कर रहा था। लेकिन सुहैल को सेना ने जिंदा पकड़ने में कामयाबी हासिल कर ली। हालांकि इसमें सुहैल के पाकिस्तानी साथी को ढेर कर दिया।
 
 
गिरफ्तार आतंकी सुहैल लोन और मारे गया पाकिस्तानी आतंकी
 
 
 
सुरक्षाबलों ने सोहेल को पुलिस के हवाले कर दिया। आतंकियों के पास से एके-47, राइफल, तीन आतंकी, 2 ग्रेनेड, 1 पिस्टल, और 2 मैगजीन मिली हैं।
सोमवार को एक प्रैस कांफ्रेंस में लेफ्टिनेंट कर्नल समर राघव ने बताया, सोहेल चार महीने पहले आतंकी संगठन से जुड़ा था। उसकी मां और बहन ने उससे घर वापस आने की अपील की थी। सेना ने परिवार से वादा किया था कि उसे जिंदा पकड़ेंगे। मुठभेड़ के दौरान सोहेल और उसके साथी आतंकी ने सुरक्षबलों पर फायरिंग की। इसके बावजूद जवानों ने संयम दिखाते हुए उसे जिंदा पकड़ लिया।
 
 
पुलवामा में आतंकियों का सफाया
सेना के मुताबिक पुलवामा औऱ अवंतिपोरा इलाके में आतंकियों का लगभग सफाया कर दिया गया है। अब सिर्फ 5-6 आतंकी ही इलाके में सक्रिय है। जिनको भी जल्द कार्रवाई की जायेगी। हालांकि पुलवामा-काकापोरा-नेवा बेल्ट में एक और आतंकी ग्रुप सक्रिय है। जिसको ट्रेस किया जा रहा है।