“साउथ अफ्रीका से ज्यादा सेफ है कश्मीर, मिलिट्री तैनाती की निगेटिव पब्लिसिटी”- इंटरनैशनल फोटोग्राफर शैंटेल फ्लोरस
         Date: 04-Dec-2018
 
 
फोटोग्राफी के लिए दुनियाभर में अवॉर्ड जीतने वाली शैंटेल फ्लोरेस जब जम्मू कश्मीर घूमने का फैसला किया, तो उनके मन में कई सवाल थे, कश्मीर घाटी की निगेटिव पब्लिसिटी के चलते। लेकिन जब वो श्रीनगर एयरपोर्ट पर उतरी तो शैंटेल का सारा डर काफूर हो गया।
 
शैंटेल के मुताबिक- “मुझे कश्मीर में रहने के दौरान कोई प्रॉबल्म नहीं हुई, मैं साउथ अफ्रीका से हूं औऱ वहां रहते हुए गन-कल्चर की वजह से मैं भी उसकी एक पीड़ित रही हूं। लेकिन कश्मीर मुझे ज्यादा सेफ लगा, यहां मिलिट्री की भारी तैनाती ते बावजूद। क्योंकि इसकी निगेटिव इमेज दिखाई जाती है।”
“ साउथ अफ्रीका में हम गलियों में नहीं चल पाते हैं। क्योंकिं वो सेफ नहीं है। तो ऐसे में यहां (कश्मीर में) आना एक रिफ्रेशिंग एक्सपीरिएंस रहा। किसी चीज की कोई चिंता नहीं। यहां हमेशा कोई न कोई हेल्प करने को तैयार रहता है।”
  

 
श्रीनगर में शैंटेल फ्लोरेस
 
 
ग्रेटर कश्मीर में छपी रिपोर्ट के मुताबिक शैंटेल फ्लोरेस कैनन साउथ अफ्रीका का ब्रांड एंबेसडर हैं और दुनिया भर में घूमकर फोटोग्राफी के लिए एक अलग पहचान बना चुकी हैं। शैंटेल अब तक 57 देशों में घूम चुकी हैं और नैशनल ज्योग्राफिक मैग़जीन के लिए कंटेट तैयार करती हैं। अपने 3 हफ्ते के कश्मीर टूर के दौरान श्रीनगर की ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक खूबसूरती देखकर बेहद खुश हैं।
 
 
जम्मू कश्मीर घूमने आने वाले सैलानियों को संदेश देते हुए शैंटेल ने कहा कि “मीडिया की खबरों से गुमराह मत हो, कश्मीर के हालात ऐसे नहीं हैं, जैसे दिखाये जाते हैं, खासतौर पर सैलानियों के लिए। ये जगह कभी आपको निराश नहीं करेगी। मैं यहां 1 हफ्ते के लिए आई थी, लेकिन 3 हफ्ते रूकी। अगर में फ्लाइट तय न होती तो मैं औऱ दिनों तक रूकती। ”