J&K: 2018 में रिकॉर्ड 257 आतंकी ढेर, 250 अभी भी बाकी
         Date: 01-Jan-2019
 
 
कश्मीर घाटी से आतंकवाद का सफाया करने में सुरक्षाबलों ने बीते साल 2018 में शानदार स्कोर बनाया। पिछले साल जम्मू कश्मीर में कुल 257 आतंकी मारे गए। जोकि साल 2017 की तुलना में काफी ज़्यादा हैं , उस साल सुरक्षाबलों ने 213 आतंकियों का सफाया किया था। यहाँ तक कि पिछले 10 सालों में ये आकड़ा सबसे ज़्यादा है। ख़ास बात ये रही कि मारे गए आतंकियों में लश्कर ए तैयब्बा, जैश ए मोहम्मद और हिज़्बुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर शामिल थे। इनमे सभी बड़ी कामयाबी थी लश्कर ए तैयब्बा के टॉप कमांडर पाकिस्तानी नवीद जट्ट का एनकाउंटर।
 
 
 
 
आतंकवाद पर भारी रहा साल 2018

मारे गए आतंकी- 257
पिछले 10 साल में सबसे ज़्यादा

91 जवान देश के लिए शहीद
 
 
 
सुरक्षा बालों की इस कामयाबी का श्रेय भारतीय सेना, सीमा सुरक्षा बल, सीआरपीएफ और जम्मूकश्मीर पुलिस के बहादुर जवानों को जाता है। जिन्होंने देश की राह में जान की परवाह किये बगैर आतंकियों के छक्के छुड़ा दिए। हालांकि इस राह में देश को भी 91 जवानों की शहादत को सहना पड़ा। जिनमे 45 जवान सबसे ज़्यादा जम्मू कश्मीर पुलिस से जुड़े हैं।
 
सूत्रों के मुताबिक इस साल आतंकी संगठनों में नए रिक्रूट शामिल होने में भारी गिरावट आयी है , लाँकि जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह के मुताबिक घाटी में अभी भी 250 -300 आतंकी सक्रिय हैं। जिनपर सुरक्षाबल लगातार नज़र बनाये हुए हैं। अबतक के रिकॉर्ड को देखते हुए 2019 आतंकयों पर भारी साबित होने वाला है।