POJK में गूंजे ‘पाकिस्तान कश्मीर छोड़ो’ के नारे, मुज्जफराबाद में पाकिस्तान और चीन के खिलाफ प्रदर्शन तेज़
         Date: 11-Jan-2019

 
 
पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान के खिलाफ कश्मीरियों ने जंग छेड़ रखी है। ये जंग है पीओजेके के नीलम नदी में पाकिस्तान और चीन द्वारा मिलकर बनाये जा रहे नीलम-झेलम डैम को लेकर। स्थानीय लोगों ने इसको Water Terrorism कहना शुरू कर दिया है। गुरूवार को पीओजेके के मुज्जफराबाद, जोकि कथित आजाद कश्मीर की राजधानी हैं, में भारी संख्या में लोग सड़क पर उतरे, और पाकिस्तान और चीन के खिलाफ प्रदर्शन किया। लोगों ने पाकिस्तान और चीन को तुरंत पीओजेके का क्षेत्र खाली करने को कहा, साथ यूनाइटेड नेशन से भी गुहार लगाई कि आजाद कश्मीर (पीओजेके) की आजादी को दिलाने में मदद करें। क्योंकि पाकिस्तान चीन की मदद से पीओजेके की तमाम नदियों पर कब्जा कर दोहन करने में लगा है। जिसका पीओजेके के स्थानीय लोग कई वजहों से विरोध कर रहे हैं।
 
 
 
1. पाकिस्तान पीओजेके की वॉटर रिसोर्सेस का इस्तेमाल पाकिस्तान के पंजाब और सिंध जैसे क्षेत्रों के लिए करने की योजना है। यानि पीओजेके में डैम बनाकर हाइड्रो-पावर प्रोजेक्ट तैयार किये जा रहे हैं, लेकिन इससे बनने वाली बिजली और उसके मुनाफे का हिस्सा आजाद कश्मीर (पीओजेके) को नहीं मिलेगा। जैसा कि मीरपुर के मंगला डैम में हुआ।
 
 
 
2. पाकिस्तान चीन की मदद से नदी के बहाव को भी मोड़ने की तैयारी में है, जिससे मीरपुर और मुज्जफराबाद तक पहुंचने वाली नीलम की धार सूख जायेगी और इससे पहले ही पानी की कमी झेल रहे मुजफ्फराबाद जैसे शहरों में भी पानी की भारी कमी हो जायेगी।
 
3. पीओजेके के कई रिहायशी इलाके पानी की चपेट में आ जायेंगे। इनकी रीसेटलमेंट के लिए भी पाकिस्तान ने कोई योजना तैयार नहीं की है। मंगला डैम के चलते पहले से विस्थापित 10 हजार परिवारों के लिए पाकिस्तान ने कोई व्यवस्था नहीं की है।
 
4. चीन लगातार पीओजेके में अपनी पैठ बढ़ाता जा रहा है, पहले पीओजेके से होते हुए सीपेक कॉरिडोर बनाया। अब डैम प्रोजेक्ट्स में पाकिस्तान के साथ हिस्सेदारी कर रहा है। जिससे सीधे तौर पर आजाद कश्मीर (पीओजेके) के लोगों को चीनी कॉलोनी बनने औऱ राजनीतिक स्टेट्स चेंज होने का खतरा साफ दिखाई दे रहा है।
 
Tags: