यूरोपियन यूनियन प्रतिनिधिमंडल ने सेना के साथ की बैठक , सेना ने बताया कैसे पाकिस्तान बढ़ा रहा घाटी में आतंकवाद
   29-अक्तूबर-2019

 
 
यूरोपियन यूनियन प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को अपने एकदिवसीय यात्रा के दौरान भारतीय सेना के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में सेना के अधिकारियों ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि कैसे पाकिस्तानी सेना आतंकियों को बढ़ावा देती है और कश्मीर में घुसपैठ करने के लिये लगातार आतंकियों की मदद करती है। प्रतिनिधिमंडल की यह बैठक श्रीनगर स्थित 15 कोर मुख्यालय में हुयी, जहां पर चिनार कॉर्प्स कमांडर केजीएस ढिल्लों भी मौजूद रहे। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि कश्मीर के दौरे पर आये यूरोपियन यूनियन का प्रतिनिधिमंडल कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों के बारे में जानना चाहता था। जिसके बाद भारतीय सेना के अधिकारियों ने उन्हें पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद को बढ़ावा देने और आतंकी गतिविधियों में शामिल होने की विस्तृत जानकारी दी। यूरोपियन यूनियन का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार की रात श्रीनगर में रूकेगा और बुधवार को वापस दिल्ली लौट जायेगा।
 
 
 
 
 
 
प्रतिनिधिमंडल अपनी एक दिवसीय यात्रा पर राज्यपाल सत्यपाल मलिक और स्थानीय लोगों के साथ सेना के कई अन्य अधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। मंगलवार को प्रतिनिधिमंडल ने डल झील में शिकारा की सैर का भी लुफ्त उठाया। अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर का दौरा करने वाला यह पहला विदेशी प्रतिनिधिमंडल है।