जेकेएलएफ मार्च के बहाने लाइन ऑफ कंट्रोल पर हिंसा भड़काने के लिए आईएसआई ने रची साजिश, मार्च में शामिल है सैंकड़ों आतंकी
    05-अक्तूबर-2019

 
पीओजेके में प्रतिबंधित आतंकी संगठन जेकेएलफ के सैंकड़ों कार्यकर्ता ने शनिवार को फिर से लाइन ऑफ कंट्रोल की तरफ अपना मार्च शुरू कर दिया है। जोकि करीब 10 बजे लाल चौक, मुजफ्फराबाद से शुरू हुआ और एलओसी के पार चकोठी की तरफ बढ़ रहा है। खुफिया सूचना के मुताबिक इस मार्च की भीड़ में सैंकड़ों लोग पीओजेके से बाहर से लाये गये हैं। ये भीड़ “भिम्बर टू श्रीनगर वाया चकोठी” प्लान के तहत एलओसी पार करने का दावा कर रही है। चकोठी पीओजेके में हट्टियां बाला जिले में एलओसी पार एक गांव है, एलओसी के इस पार उड़ी सेक्टर है।
 
दरअसल पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में लगातार माहौल भड़काने और उसको इंटरनेशनल मीडिया में उछालने की लगातार कोशिश कर रहा है। ताज़ा साजिश के तहत पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पीओजेके स्थित प्रतिबंधित आतंकी संगठन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के जरिये लाइन ऑफ कंट्रोल पर हिंसक हंगामा खड़ा करने की साजिश रची है।
 

 
खुफिया सूचना के मुताबिक आईएसआई के सैंकड़ों ट्रेंड आतंकियों को इन मार्च में शामिल कर दिया है। जोकि एलओसी पर हिंसक वारदात करने के लिए शामिल किये गये हैं। पाकिस्तान की कोशिश है कि इस हिंसक वारदात के बहाने इंटरनेशनल मीडिया में मामले को किसी तरह लगातार उछाला जाये।
 
इधर भारतीय सुरक्षा एजेंसियां किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। उड़ी सेक्टर में भारतीय सेना ने स्नाइपर दस्ता भी तैनात किया है, जो किसी भी घुसपैठ को नाकाम करने में सक्षम है।
 
वहीं पाकिस्तान इस साजिश से पल्ला झाड़ने का नाटक भी कर रहा है। शनिवार सुबह पीएम इमरान खान ने 2 ट्वीट कर इस मार्च पर सवाल उठाये...।
 

 
सितंबर महीने में भी पीओजेके में एलओसी की तरफ मार्च की एक और कोशिश हुई थी, जिसमें बेलगाम घुसपैठिये एलओसी पर पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों के साथ ही भिड़ गये थे, जिसके बाद पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों की गोलीबारी में दर्जनों घुसपैठिये घायल हो गये थे।
 
आशंका है कि इस बार आईएसआई ने ट्रेंड आतंकियों को शामिल कर दिया है, जोकि मार्च की आड़ में घुसपैठ कर सकते हैं।