पहली बार राजौरी के गांवों में पहुंची बिजली, आर्टिकल 370 हटने के बाद गांव रोशन देखकर हजारों ग्रामीण उत्साहित
    05-अक्तूबर-2019
 
 
 
राजौरी जिले में आने वाले दूर दराज गांवों के करीब 20 हजार घरों को पहली बार बिजली कनेक्शन मिला है। इन सभी घरों को सरकार ने सौभाग्य योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया है। राजौरी के कई गांव और खास कर सीमा से लगे गांवों को आज तक बिजली कनेक्शन नहीं मिला था। बिजली मिलने के बाद सभी ग्रामीण खुश है और उन्होंने सरकार को इस कदम के लिये धन्यवाद कहा है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद से वहां के लोगों को सभी सरकारी योजनाओं का फायदा मिलने लगा है। इससे पहले तक जम्मू-कश्मीर के स्थानीय लोगों को सरकार के किसी भी योजना का लाभ नहीं मिलता था।
 
सौभाग्य योजना के तहत 20 हजार 300 घर हुये रोशन
 
डीडीसी राजौरी मोहम्मद एजाज असद ने न्यूज एजेंसी एएनआई ने बातचीत में बताया कि सरकार ने सौभाग्य योजना के तहत 20 हजार 300 घरों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया है। सीमा के पास अधिकांश क्षेत्रों में आज-तक कभी बिजली नहीं पहुंची थी। घरों को पहली बार रोशन देखकर गांव के सभी लोग बहुत खुश है।
सरंपच खादिम हुसैन ने कहा हम बहुत खुश है, हमारे घरों में रोशनी हो गयी है। अब आसानी से रात में भी हम घर का काम कर सकते है। हमारे बच्चे रात में अब पढ़ाई कर सकते है, इससे पहले बच्चे लैंप, मोमबत्ती के सहारे पढ़ाई करने को मजबूर थे। लेकिन अब गांव में बिजली है, हर घर रोशन है। बिजली आपूर्ति के लिये गांव में 4 ट्रांसफार्मर भी लगे हुये है।
 
व्यापार में सुविधा
 
बिजली कनेक्शन मिलने से ग्रामीण दुकानदारों को भी लाभ मिल रहा है। अलग-अलग व्यापार के छोटे व्यापारी अब अपनी दुकानों पर नई तकनीक का उपयोग कर सकते है। ये सभी दुकानदार अभी तक किसी भी नई तकनीक का उपयोग नहीं कर पाते थे। ग्रामीणों को मोबाइल फोन चार्ज करने में भी आसानी हो गयी है।
 
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 सितंबर 2017 को सौभाग्य योजना की शुरुआत की थी। जिसके तहत देश के सभी गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जायेगा। सौभाग्य योजना के तहत ही जम्मू-कश्मीर के जिन घरों में बिजली नहीं है, उन्हें बिजली कनेक्शन देकर सरकार उनके घर को रोशन कर रही है।