अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर इंडियन एयरफोर्स में शामिल, जुलाई तक फ्लीट में शामिल होंगे 22 अपाचे, सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सबसे खतरनाक हथियार
    11-मई-2019
 
 
 
अमेरिका ने 2011 में ओसामा को पकड़ने के लिए जिस अपाचे हेलिकॉप्‍टर का इस्तेमाल किया था और जिस ऑपरेशन की भनक पाकिस्तान को नहीं लगी थी। वोही अपाचे हेलीकॉप्टर अब भारतीय वायुसेना में शामिल हो चुके हैं। खतरनाक हमलावर हेलीकॉप्टर अपाचे आधिकारिक रूप से भारतीय वायुसेना को सौंप दिया गया। एरिज़ोना, यूएस में बोइंग प्रोडक्शन फेसिलिटी में एयर मार्शल एएस बुटोला ने पहला अपाचे रिसीव किया। जुलाई महीने तक कुल 22 अपाचे भारतीय वायुसेना को सौंप दिये जायेंगे।
 
 
जानकारों का मानना है कि अपाचे युद्ध के समय 'गेम चेंजर' की भूमिका निभा सकता है। आइये जानते हैं क्या है इस हेलीकॉप्टर की खासियत-
 
 
 

 
 
1. बोइंग द्वारा तैयार किया गया ये सबसे अडवांस्ड लड़ाकू हेलिकॉप्टर है जोकि एक साथ कई कार्य करने में सक्षम है। इसको यूएस आर्मी और इजराइल जैसे देश इस्तेमाल करते हैं।
 
 

2- यूएस ने इस अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर की मदद से अफगानिस्तान, ईराक और दूसरे देशों में दुश्मनों को तबाह किया है। यूएस सर्जिकल ऑपरेशन में भी इसी हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करता रहा है।
 
 
3- अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर में दो जनरल इलेक्ट्रिक T700 टर्बोशैफ्ट इंजन हैं और आगे की तरफ एक सेंसर फिट है जिसकी वजह से यह रात के अंधेरे में भी उड़ान भर सकता है। यह 365 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरता है। इतनी तेज गति होने की वजह से यह दुश्मन के टैंकों के परखच्चे आसानी से उड़ा सकता है।
 
 

 
यूएस में हेलीकॉप्टर रिसीव सेरेमनी
 
 
4. अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर हेलिफायर और स्ट्रिंगर मिसाइलें से लैस होता है और दोनों तरफ 30 एमएम की दो खतरनाक हेवीमशीन गन हैं।



5- अपाचे का सबसे खतरनाक फीचर है इसका हेलमेट माउंटेड डिस्प्ले, इंटिग्रेटेड हेलमेट और डिस्प्ले साइटिंग सिस्टम, जिसकी मदद से पायलट हेलिकॉप्टर में लगी ऑटोमैटिक M230 चेन गन को अपने दुश्मन पर टारगेट कर सकता है।
 

6- अपाचे खराब मौसम में भी बिना किसी बाधा के ऑपरेशन को अंजाम दे सकता है। दिन हो या रात, आंधी हो या तूफान अपाचे दुश्मनों को तबाह करने में सक्षम है।