मसूद अजहर पर बैन के बाद आईएसआई ने तैयार किया नया आतंकी संगठन जैश-ए-मुत्तक़ी, भारत में पुलवामा जैसे हमले की भी तैयारी
   09-मई-2019
 
 
 
यूएन सिक्योरिटी काउंसिल द्वारा मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के बाद, जैश-ए-मोहम्मद के नाम से पाकिस्तान में कैंप या आतंकी भर्ती करना पाकिस्तान के लिए नामुमकिन हो गया है। लिहाजा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने नया आतंकी संगठन जैश-ए-मुत्तक़ी तैयार कर लिया है। भारतीय खुफिया एजेंसी की एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान और पाकिस्तान सीमा के नजदीक मीरमशाह इलाके में आईएसआई ने जैश-ए-मुत्तक़ी (Jaish-E-Muttqi) के टेरर कैंप बनाये गये हैं। जहां आईएसआई ने आतंकियों की ट्रेनिंग शुरू कर दी है। इनमें जैश-ए-मोहम्मद और तालिबान आतंकियों को भर्ती कर ट्रेनिंग दी जा रही है।
 
 
मीरमशाह पाकिस्तान के नार्थ वजीरस्तान का हिस्सा है और ये अफगानिस्तान से महज 60 किलोमीटर की दूरी पर है। जोकि अफगानिस्तान से भागकर आये तालिबान और सुन्नी संगठनों से जुड़े आतंकियों का गढ़ माना जाता है। भारतीय खुफिया एजेंसियां लगातार इन कैंपों पर लगातार नज़र बनाये हुए हैं।
 

 
 अफगान-पाकिस्तान बॉर्डर पर तालिबान ट्रैनिंग कैंप 
 
 
रिपोर्ट के मुताबिक आईएसआई भारत में बड़े फिदायीन हमले कराने के लिए जैश और ISIS के आतंकियों को करीब ला रही है। रिपोर्ट के मुताबिक आइएसआई ने कुछ दिनों पहले अफ़ग़ानिस्तान में जैश और ISIS के आतंकियों के बीच गुप्त बैठक कराई है। सिर्फ यही नहीं आईएसआई जैश और तालिबान आतंकियों को भी एक साथ लाने की तैयारी में पिछले कई महीनों से लगी हुई है, जिससे जम्मू कश्मीर में पुलवामा जैसे और हमले कराये जा सके।