पुलवामा, आतंकियों ने घर में घुसकर की मासूम महिला हत्या, 2 साल पहले आतंकियों पति की हत्या की थी, मानवाधिकारों के ठेकेदार मना रहे हैं ईद
   05-जून-2019

 
आज कश्मीर घाटी में आतंकियों ने एक और मासूम महिला को अपने आतंक का निशाना बनाया। पुलवामा के नारबल इलाके के काकापोरा गांव में नगीना जान ईद की तैयारियां कर रही थी। जब 3-4 आतंकी जबरन घर में घुसे और अंधाधुंध नगीना जान और घर में मौजूद निकट संबंधी जलालुद्दीन बफांदा पर गोलियों से हमला किया। दोनों को मरा समझकर आतंकी फरार हो गये। पड़ोसियों ने दोनों को अस्पताल में भरती कराया। लेकिन यहां नगीना को मृत घोषित कर दिया, जबकि जलालुद्दीन को गंभीर हालत में श्रीनगर के शेरे कश्मीर आयुर्विज्ञान संस्थान सौरा अस्पताल में रेफर कर दिया गया। जहां अभी तक जलालुद्दीन का हालत गंभीर बनी हुई है।
 
आपको बता दें कि ठीक 2 साल पहले 19 मई 2017 को नगीना के पति मोहम्मद युसूफ लोन को भी गोली मारकर शहीद कर दिया था।
 
इस हमले के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है, और आर्मी की टीम के साथ मिलकर इलाके में सर्च अभियान शुरू कर दिया है। लेकिन इस बीच सबसे दुखद ये है कि आमतौर पर आतंकियों और अलगाववादी के मानवाधिकारों का हल्ला मचाने वाले हमेशा की तरह एक मासूम महिला पर कायराना हमले को लेकर पूरी तरह चुप्पी साधे हुए हैं। अभी तक किसी भी बड़े एक्टिविस्ट या नेता का इस घटना की निंदा करने के लिए कोई ट्वीट दिखायी नहीं दिया है।