कर्ज़ लेने में पाकिस्तान ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, पिछले एक साल में लिया 16 बिलियन डॉलर का कर्ज़
   24-जुलाई-2019
 
 
 
इमरान खान पाकिस्तान के वो रिकॉर्डधारी प्राइम मिनिस्टर बन चुके हैं, जिसने एक साल में पाकिस्तान के इतिहास में सबसे ज्यादा कर्ज लिया है। ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2018-2019 में पाकिस्तान ने 16 बिलियन डॉलर का कर्ज लिया है। साल 2017-18 में पाकिस्तान सरकार ने 11.4 बिलियन डॉलर का कर्ज लिया था।
 
 
 
पाकिस्तान सरकार के आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान को कुल 106 बिलियन डॉलर का कर्ज चुकाना है
 
 
पाकिस्तान को ये कर्ज पिछले कर्ज के ब्याज को चुकाने और तेल-गैस जैसे जरूरी उत्पादों के आयात करने के खर्च के लिए लेना पड़ा। इस कर्ज में से 13.6 बिलियन नये पाकिस्तान (इमरान सरकार के दौरान) में लिया गया। जोकि पाकिस्तान के बनने के बाद किसी भी सरकार द्वारा लिया गया सबसे ज्यादा कर्ज है। बाकी का 2.4 बिलियन कर्ज इमरान सरकार से पहली केयरटेकर सरकार ने जुलाई 2018 में लिया था। इस कर्ज में 5.5 बिलियन डॉलर का कर्ज सऊदी अरब, यूएई और कतर ने दिया था। जबकि सबसे ज्यादा कर्ज चीन ने दिया, चीन ने एक साल में पाकिस्तान को 6.7 बिलियन डॉलर कर्ज दिया।
 
 
 
 
 
इमरान खान सरकार ने आकंड़ों को छिपाने के लिए बैलेंसशीट में गड़बड़झाला कर कर्ज छिपाने की कोशिश में है, खबरों के अनुसार पाकिस्तान सरकार वित्तीय वर्ष 2018-19 में सिर्फ 10.5 बिलियन डॉलर के कर्ज को बैलेंसशीट में दिखाया जायेगा। जबकि बाकी का 5.5 बिलियन डॉलर कर्ज स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान की बैलेंसशीट में डाला जायेगा। ताकि इमरान खान सरकार का रिकॉर्ड पॉजिटिव दिखाया जा सके।
 
 
 पाकिस्तान के पीएम हाल ही मे यूएस भी गये लेकिन यहां से पाकिस्तान को 1 डॉलर की सहायता नहीं मिली
 
 
 
शुरूआत में 2 बिलियन डॉलर का चायनीज़ सेफ डिपोज़िट भी फेडरल पब्लिक डेट के खाते में नहीं डाला गया था। लेकिन इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड के दवाब में पाकिस्तान को फेडरल बैलेंसशीट में डालना पड़ा।