पाकिस्तान में जारी है हिंदूओं का उत्पीड़न, कराची में गैर-मुस्लिमों को घर नहीं देने का लगा है नोटिस
   25-सितंबर-2019

 
पाकिस्तान के कराची शहर के पॉश इलाके में गैर - मुस्लिमों को प्रॉपर्टी खरीदने और रहने का अधिकार नहीं है। यहां पर लगभग हर इलाके के बिल्डिंग गेट के बाहर गैर-मुस्लिम लोगों को प्रॉपर्टी बेचने, किराये पर नहीं देने का नोटिस लगा हुआ है। पाकिस्तान लगातार हिंदू अल्पसंख्यकों के साथ सौतेला बर्ताव कर रहा है और मानवाधिकार का हनन कर रहा है
 
पाकिस्तान में मानवाधिकार के लिए काम कर रहे कार्यकर्ता कपिल देव ने ट्वीट करके जानकारी दी
 
“यदि आप गैर-मुस्लिम हैं तो कराची के पॉश इलाके में आप प्रॉपर्टी खरीदना तो दूर किराये पर भी लेने के बारे में नहीं सोच सकते हैं। कराची के पॉश इलाके खालिक-उज-जमन रोड ब्लॉक-8 क्लिफ्टन पर स्थित मचियारा रेजिडेंसी ने अपने गेट के बाहर गैर-मुस्लिम लोगों को प्रॉपर्टी बेचने, किराए पर देने से इंकार करने का नोटिस लगाया हुआ है।“ कपिल के मुताबिक इस तरह के नोटिस यहां पर कई सोसाइटी में भी लगे हुये है।
 
 
 
वहीं कपिल देव के ट्वीट के बाद एक अन्य यूजर करण ने अपनी व्यथा बताते हुए लिखा कि 
 
“2018 में वह कराची में एक फ्लैट तलाश कर रहे थे। उस दौरान तलाश करने पर उन्‍हें ऐसी करीब 20 से ज्यादा बिल्डिंग मिली जहां पर इस तरह का नोटिस लगा था। बहादुराबाद में लगभग सभी बिल्डिंग में इस तरह का नियम लागू है। यहां पर भी गैर-मुस्लिमों को ना तो मकान बेचा जाता है और न ही किराये पर रहने दिया जाता है।"
 
 
पाकिस्तान से भागे विधायक ने कहा हम  सुरक्षित नहीं
 
हाल ही में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के विधायक बलदेव कुमार भारत सरकार से शरण देने की अपील की थी। बलदेव ने कहा कि वहां पर हम हिंदू अल्पसंख्यक बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है।
 
 
अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा ने भी कहा पाकिस्तान में हो रहा धार्मिक भेदभाव
 
पिछले महीने अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा ने भी धार्मिक स्वतंत्रता का मुद्दा उठाते हुए कहा था कि पाकिस्तान धार्मिक अल्पसंख्यकों के ऊपर अत्याचार कर रहा है। बैठक में तीनों देशों ने पाकिस्तान में धार्मिक स्वतंत्रता पर बढ़ते हुये प्रतिबंधों और अल्पसंख्यकों के दमन को लेकर चिंता भी जाहिर की थी।
 
 
ये कोई पहला मामला नहीं जब पाकिस्तान हिंदूओं के साथ इतना बुरा और सौतेला बर्ताव कर रहा है। पाकिस्तान से लगातार हिंदूओं के उत्पीड़न की खबर आती है। सिंध प्रांत में आये दिन हिंदू लड़कियों के साथ बलात्कार और हत्या जैसी वारदात होती है। लेकिन पाकिस्तानी सरकार इन सब वारदातों पर चुप है, और इन्हें बढ़ावा दे रही है।