आतंकी हाफिज सईद का परिवार खाने को मोहताज, पाकिस्तान की अपील पर यूएन ने दी राहत
    26-सितंबर-2019

 
 
 
 
यूएन ने वैश्विक आतंकी और लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज सईद को राहत देते हुए कहा कि वो अपने परिवार के जीवनयापन के लिए बैंक से पैसे निकाल सकता है। दरअसल यूएन ने हाफिज सईद का अकाउंट फ्रीज कराया था। जिसके बाद पाकिस्तान ने अगस्त में हाफिज सईद के मदद के लिए यूएन को चिट्ठी लिखी थी। जिसमें पाकिस्तान ने दलील थी कि हाफिज सईद के परिवार को घर चलाने के लिए हर महीने का खर्चा चाहिये। इस विषय पर किसी देश द्वारा आपत्ति नहीं उठाने पर यूएनएससी ने हाफिज सईद को बैंक से लेन-देन की मंजूरी दे दी है। पाकिस्तान के इस दोहरे रवैये से ये साबित होता है कि पाकिस्तान हमेशा आतंकियों के पक्ष में है।
 
 
 
 
 
 
 
हाफिज सईद के पास खाने और घर चलाने को नहीं है पैसे
 
 
 
यूएन के दबाव के बाद पाकिस्तान ने हाफिज सईद का अकाउंट फ्रीज कर दिया था। अकाउंट फ्रीज होने के समय उसके अकाउंट में करीब साढ़े ग्यारह लाख रुपये थे। इसके बाद पाकिस्तान ने यूएनएससी में गुहार लगायी थी कि हाफिज के परिवार में चार लोग हैं और कमाने वाला कोई नहीं हैं। ऐसे में परिवार हाफिज पर ही निर्भर हैं, लिहाजा उन्हें घर का खर्च चलाने के लिए हर महीने खाते से डेढ़ लाख रुपये निकालने की इजाजत मिले।
 
 
 
पाकिस्तान और आतंक का है सांठगांठ
 
 
यूएन के दबाव के बाद पाकिस्तान ने आतंकी हाफिज सईद को टेरर फंडिंग और आतंकी गतिविधियों से जुड़े कई मामलों को लेकर गिरफ्तार कर जेल भेजा था। लेकिन पिछले महीने पाकिस्तान से एक खबर आयी कि पाकिस्तान ने हाफिज सईद को रिहा कर दिया है। ऐसा पहली बार नहीं है, पाकिस्तान सिर्फ दुनिया को दिखाने के लिए आतंकी कार्रवाई करने की बात करता है। असल में तो पाकिस्तान और आतंक का सांठगांठ है।
 
 
 
 
2008 मुंबई हमले और 2001 संसद हमले का आरोपी है हाफिज सईद
 
 
हाफिज सईद 2008 मुंबई बम हमले और 2001 में हुये संसद हमले का प्रमुख मास्टरमाइंड था। 26/11 मुंबई हमले में 166 लोगों की जान गयी थी।