आईसीजे ने पाकिस्तान को लगायी फटकार, कहा- खैबर पख्तूनवा में लागू मार्शल लॉ है मानवाधिकार का उल्लंघन
    28-सितंबर-2019
 
 
इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ( आईसीजे) ने शुक्रवार को पाकिस्तान द्वारा खैबर पख्तूनवा में लागू किये अध्यादेश के लिये फटकार लगायी। आईसीजे ने अध्यादेश की निंदा करते हुये कहा यह मानवाधिकार का उल्लंघन है। दरअसल पाकिस्तान ने खैबर पख्तूनवा में मार्शल लॉ लागू किया है, जिसके मुताबिक खैबर पख्तूनवा पूरी तरह सेना के अधीन रहेगी। पाकिस्तान के इस अध्यादेश से वहां के लोगों को सरकार द्वारा मिलने वाले कई सारे अधिकार भी खत्म हो गये है। पाकिस्तान में लगातार मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है। विश्व के कई देशों में भी इसके खिलाफ आवाज उठाई जा रही है। अभी हाल ही में अमेरिका के ह्यूस्टन की सड़कों पर पश्तूनों ने पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया था, और पाकिस्तान से अलग आजादी की मांग की थी।
 
पाकिस्तान द्वारा लागू अध्यादेश है मानवाधिकार का उल्लंघन 
 
आईसीजे एशिया के निदेशक फ्रेडरिक रॉवस्की ने कहा कि पाकिस्तान को खतरनाक, प्रतिशोधात्मक रणनीति नहीं बनानी चाहिये। इसके बजाय अपने देश के न्याय की प्रक्रिया और कानून व्यवस्था को मजबूत करना चाहिये। नये अध्यादेश में पाकिस्तान का पाखंड छुपा हुआ है। पाकिस्तान मानवाधिकार का उल्लंघन करने का लगातार अपराध कर रहा है।
 
पाकिस्तान ने खैबर पख्तूनवा में क्यों लागू किया मार्शल लॉ ?
 
खैबर पख्तूनवा प्रांत में लोग लगातार पाकिस्तान के खराब रवैया के खिलाफ आवाज उठाते है। पख्तूनवा के लोग हमेशा से पाकिस्तान से अलग होने की मांग भी करते है। खैबर पख्तूनवा के लोगों के साथ आये दिन सौतेला व्यवहार किया जाता, उनका शोषण किया जाता है। इसी कारण पख्तून के लोग पाकिस्तान से आजादी चाहते है।