“पीएम नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370 को निरस्त कर 35 हजार शहीदों को दी सच्ची श्रद्धांजलि” – गृह मंत्री अमित शाह
    30-सितंबर-2019



 
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370 को निरस्त कर करीब 35 हजार शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि दी है।जिन्होंने राज्य में आतंकवाद से लड़ते हुए अपना जीवन गंवा दिया था। दरअसल अमित शाह सोमवार की सुबह गुजरात के अहमदाबाद में त्वरित कार्य बल (आरएएफ) के 27 वें स्थापना दिवस में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे थे। वहां उन्होंने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियानों और विभिन्न राज्यों में नक्सल विरोधी अभियानों में बहादुरी का परिचय देने वाले 20 सीआरपीएफ जवानों को वीरता पदक से सम्मानित किया है। इनमें से कुछ जवानों को मरणोपरान्त पदक भी दिया गया है। अमित शाह ने कहा कि ‘मैं कश्मीर और भारत के लोगों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि जम्मू-कश्मीर विकास के मार्ग पर अग्रसर होगा और सरकार द्वारा उठाया गया कदम जम्मू-कश्मीर में स्थायी शांति लेकर आयेगा।“
 
अमित शाह ने आरएएफ और सीआरपीएफ के जवानों की प्रशंसा करते हुए कहा कि
 
“आरएएफ और सीआरपीएफ के जवानों की दंगा नियंत्रण के साथ-साथ प्राकृतिक आपदा में भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। हमारे इन बलों के साहसी जवानों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संयुक्त राष्ट्र के कई मिशनों में भी अपना योगदान देकर देश का मान बढ़ाया है।
 
 
आरएएफ के जवानों को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा “इतने कम समय के अंदर आरएएफ ने देश और दुनिया में अपनी विश्वसनियता बनाने में बहुत बड़ी सफलता हासिल की है। कई जगह जहां दंगे और उपद्रव होते हैं, वहां पर आरएएफ के पहुंचने की सूचना मात्र से ही दंगाइयों का बिखरना शुरू हो जाता है। कई जगह आरएएफ की उपस्थिति के कारण ही दंगे होने की शुरुआत ही नहीं हो पाती है।“
 
आरएएफ की स्थापना सात अक्टूबर 1992 को हुआ था, उसी दिन से इसका परिचालन भी आरंभ हुआ था। लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री की कुछ प्रतिबद्धताओं के कारण कार्यक्रम का आयोजन सोमवार 30 सितम्बर को हुआ। इस बल की देश के विभिन्न शहरों में 15 बटालियन तैनात हैं और हर इकाई में करीब 1 हजार जवान हैं।