जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पीडीपी के 2 और सीनियर नेता रिहा, 5 अगस्त के बाद से थे नज़रबंद
   03-जनवरी-2020

PDP _1  H x W:
 
 
जम्मू कश्मीर प्रशासन ने शुक्रवार को पीडीपी के 2 और सीनियर नेताओं से प्रतिबंध हटा लिया है। आर्टिकल 370 को हटाये के जाने यानि 5 अगस्त से नज़रबंद इन नेताओं पर से तमाम प्रतिबंध हटा लिये गये हैं, अब ये रोज़मर्रा के कामकाज़ में बेरोकटोक हिस्सा ले सकते हैं। ये नेता हैं सोनवार, श्रीनगर से पूर्व एमएलए अशरफ मीर और पहलगाम से पूर्व एमएलए रफीक़ मीर। रफीक मीर पीडीपी के सीनियर प्रवक्ता भी हैं। इन दोनों नेताओं की रिहाई को सरकार की तरफ से बेहद महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है।
 
 
अशरफ मीर को नवंबर महीने के आखिरी सप्ताह में एमएलए हॉस्टल से उनके घर पर शिफ्ट किया गया था। जबकि रफीक मीर 5 अगस्त से ही अपने घर हिरासत में लेकर सेन्टौर होटेल में रखा गया था। जहां पर अन्य 34 नेताओं को नज़रबंद करके रखा गया था।
 
 
इनमें से ज्यादातर नेताओं को धीरे-धीरे कर रिहा कर दिया गया है। हाल ही में 30 दिसंबर को भी पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस के 5 बड़े नेताओं को रिहा किया था। जिसमें एनसी के इशफाक जब्बा, बशीर मीर, ज़हूर मीर, पीडीपी के यासिर रेशी और निर्दलीय गुलाम नबी भट शामिल थे। जबकि इससे पहले नवंबर महीने में पीडीपी के दिलावर मीर और डेमोक्रेटिक पार्टी (नेशनलिस्ट) के गुलाम हसन मीर को रिहा किया गया था।