"अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ड्रग्स और हथियारों की तस्करी के लिए हो रहा ड्रोन का इस्तेमाल"- NSG DG
    17-अक्तूबर-2020


NSG_1  H x W: 0
 
 अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ड्रग्स और हथियारों की तस्करी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल हो रहा है। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के महानिदेशक एसएस देसवाल ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सीमा पार से हथियारों और ड्रग्स को भारतीय सीमा में पहुंचाने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल हो रहा है। हालांकि हमारी सुरक्षा एजेंसी सतर्क हैं और उन्हें बेअसर करने में सक्षम हैं। एसएस देसवाल ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि पश्चिमी सीमा पर ड्रोन का होना एक सुरक्षा खतरा हैं। क्योंकि इसका उपयोग अंतरराष्ट्रीय सीमा से हथियारों और ड्रग्स को ड्रॉप करने के लिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे पास उन्हें पहचानने और बेअसर करने की प्रणाली है।
 
 


उन्होंने कहा कि एनएसजी आतंकवाद विरोधी गतिविधियों से निपटने के लिए आकस्मिक बल है। उन्होंने कहा कि एनएसजी खतरनाक स्थिति से निपटने के लिए सुसज्जित और प्रशिक्षित एक बल है और इसी कारण इसका उपयोग असाधारण परिस्थितियों में आतंकवाद के गंभीर कार्यों को विफल करने के लिए किया जाता है। एसएस देसवाल पहले भारत-तिब्बत सीमा पुलिस  के महानिदेशक थे। केंद्र सरकार ने  पिछले महीने ही उन्हें एनएसजी के डीजी का अतिरिक्त प्रभार सौंपा है।