मौत से जूझ रहे राजौरी के छात्र को ढाका से दिल्ली किया गया एयरलिफ्ट, पिता मो. असलम लोन ने पीएम मोदी को किया सैल्यूट
   14-जून-2022
Rajjouri Student Airlift
 
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी टीम यूं तो कई बार विदेश में फंसे भारतीय लोगों के लिए कई बार रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर देशवासियों की हिफाजत को लेकर अपनी मंशा साफ तौर पर जाहिर कर चुकी है। लेकिन अब जम्मू कश्मीर के राजौरी निवासी  शोएब को एयर एंबुलेंस के जरिए ढाका से वापस भारत लाकर सरकार ने एक बार फिर देशवासियों के प्रति अपनी प्राथमिकता जाहिर कर दी है।
 
बांग्लादेश में MBBS का स्टूडेंट है शोएब
 
दरसल जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के रहने वाले मोहम्मद असलम लोन इस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। वजह है उनके 'जिगर के टुकड़े उनके बेटे' की वतन वापसी। दरअसल असलम लोन का बेटा शोएब बांग्लादेश में MBBS का स्टूडेंट है। वह कुछ दिनों पहले राजधानी ढाका में सड़क दुर्घटना का शिकार हो गया था। उसे बांग्लादेश के स्थानीय लोगों द्वारा एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। परंतु उपचार में लग रहे अधिक खर्चे और वहां की भाषा समेत अन्य समस्याओं से परेशां होकर मो. असलम ने केंद्र सरकार से गुजारिश की थी उन्हें भारत वापस लाया जाए।
 
शोयब ढाका में कार दुर्घटना में हुआ था शिकार 
 
लिहाजा मो. असलम की आज प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुंची और आज शोएब को केंद्र सरकार के हस्तक्षेप से उसे भारत वापस लाया गया है। लिहाजा बेटे के वतन वापसी के बाद पिता मो. असलम लोन ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में बताया कि उनका बेटा शोएब लोन बरिंद मेडिकल कॉलेज ढाका में एमबीबीएस का छात्र है। कुछ दिनों पहले वह 4 अन्य लोगों के साथ यात्रा करते समय एक कार दुर्घटना का शिकार हो गया। उन्होंने बताया कि वीजा और अन्य दस्तावेजों की व्यवस्थाओं में देरी होने की वजह से उनके परिवार को ढाका पहुंचने में समय लग गया।
  Mhd. Aslam Thanks to Pm Modi
 
 
कई तरह की समस्याओं से होना पड़ा रूबरू - मो. असलम 
 
ढाका पहुंचने पर असलम लोन और उनके परिवार को भाषा और "उपचार की उच्च लागत" सहित अन्य कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि अस्पताल में 10 दिनों तक रहने के लिए उन्होंने 12 लाख रुपये खर्च किए और स्थिति में बहुत सुधार नहीं हुआ, जिसके चलते वो बहुत ज्यादा समस्या में थे। उन्होंने आगे बताया कि जम्मू-कश्मीर भाजपा के अध्यक्ष रविंद्र रैना एक दिन रजौरी आए थे, तब रविंद्र रैना को जानने वाले लोगों ने इस समस्या के बारे में जानकारी दी। भाजपा नेता ने इसकी जानकारी PMO को दी। जिसके बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक्शन लेते हुए तुरंत एयर लिफ्ट कराने का आदेश दिया।
 
 
एक पैर पर खड़े होकर पीएम मोदी को करता हूँ सैल्यूट
 
असलम लोन ने आगे कहा, "मैं मोदीजी का बहुत आभारी हूं। ऐसा कहा जाता है कि धन्यवाद देने से किए गए कार्य का मूल्य कम हो जाता है लेकिन मैं कृतघ्न नहीं बनना चाहता। मैं एक पैर पर खड़े होकर उन्हें सैल्यूट करता हूँ। असलम ने कहा कि अगर किसी देश में ऐसा नेता है, जैसा कि हिंदुस्तान में हमारे पास है, जहां देखभाल करने के लिए इतने अच्छे (नेता) हैं, लोगों को डरना नहीं चाहिए। मैं पीएम को एक करोड़ बार धन्यवाद कहता हूं। मैं रैनाजी और उन सभी को भी धन्यवाद देता हूं जिन्होंने हमारी मदद की।"
 
 
शोयब को नई दिल्ली के एम्स ट्रॉमा सेंटर में कराया गया भर्ती 
 
उन्होंने कहा कि पीएम के हस्तक्षेप के कारण ही आज मेरा बेटा एम्स ट्रॉमा सेंटर में हैं। यह पीएमओ का क्विक रिस्पॉन्स था जिसने देश के आम आदमी की मदद की। आपको बता दें कि शोएब को आज एयर एम्बुलेंस द्वारा भारत लाया गया और विशेषज्ञ डॉक्टरों की एक टीम के अंडर में उन्हें नई दिल्ली के एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया। बांग्लादेश में हुए सड़क हादसे की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शोएब के 2 साथी पैसेंजर्स की इस दुर्घटना में मौत हो गई।