राजनीति

"PSOs, SPOs को क्यूं मारते हो, उन्हें मारो जिन्होंने कश्मीर का सारी दौलत लूटी है"- राज्यपाल सत्यपाल मलिक

   जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आज आतंकवाद के लिए हथियार उठाने वाले नौजवानों को संदेश देते हुए एक ऐसा बयान दिया जिस पर बवाल खड़ा हो गया। कारगिल लद्दाख टूरिज्म फेस्टिवल, कारगिल में बोलते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि- "ये जो लड़के बंदूक लिए फिज़ूल में अपने लोगों को मार रहे हैं, पीएसओ (Personal Security Officer) और एसपीओ (Special Police Officer) को मारते हैं। क्यों मार रहे हो इनको। उन्हें मारो जिन्होंने तुम्हारा मुल्क लूटा है। जिन्होंने कश्मीर की सारी दौलत लूटी है। इनमें ..

सुशासन की ओर अग्रसर जम्मू-कश्मीर, राज्य के लिए वरदान साबित हुआ गवर्नर राज

    - शिवपूजन प्रसाद पाठक  जम्मू-कश्मीर पिछले एक वर्ष से राज्यपाल के अधीन है। महबूबा मुफ्ती की सरकार गिरने के बाद से विधायी और कार्यपालिका की शक्तियाँ राज्यपाल के हाथों में आ गयी हैं । जम्मू-कश्मीर में राजपाल के माध्यम से शासन करने का लम्बा इतिहास रहा है लेकिन वर्तमान राज्यपाल शासन बहुआयामी सुधारात्मक कदम उठा रहा है जिसमें प्रशासनिक, आर्थिक सुधार व सुशासन की गतिविधियां शामिल है । ये सभी प्रयास बहुप्रतीक्षित मांग है और इसके प्रभाव दूरगामी होंगे । ..

VDCs के खिलाफ सांप्रदायिक माहौल भड़काने पर पीडीपी नेताओं पर एफआईआर दर्ज, कार्रवाई पर तिलमिलाये पीडीपी नेता

  किश्तवाड़ में पीडीपी के एमएलसी फिरदौस टाक समेत कई नेताओं के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है। इनपर आरोप है कि फिरदौस टाक और स्थानीय नेताओं ने चेनाब वैली में गठित की विलेज डिफेंस कमेटी को सांप्रदायिक रंग देकर लोगों को भड़काने का काम किया है। इसके साथ ही इन नेताओं ने गवर्नर एडमिनिस्ट्रेशन, बीजेपी और आरएसएस के खिलाफ किश्तवाड़ की मस्जिद के पास प्रदर्शन किया और लोगों सांप्रदायिक भाषण देकर लोगों को भड़काया।  दरअसल पिछले अक्टूबर के बाद किश्तवाड़ में कई आतंकी घटनाएं हुई थीं। जिसमें ..

J&K: बीजेपी की सदस्यता ले रहे हैं आतंकवाद से पीड़ित परिवार, सदस्यता अभियान में 3.4 लाख नए सदस्य जुड़े

  भाजपा का सदस्यता अभियान 6 अगस्त से शुरू हुआ। इसके तहत जम्मू कश्मीर के कई ज़िलों में जनसमूह ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। जम्मू कश्मीर राज्य में बीजेपी हमेशा से कमजोर रही है लेकिन 2018 के शहरी निकाय चुनाव में भाजपा के 104 पार्षद जीत कर आए। वहीं..

13 जुलाई का सच बोलने पर कांग्रेसी विक्रमादित्य सिंह के खिलाफ दूसरे कांग्रेसी नेता सैफुद्दीन सोज़ ने उगला जहर

  13 जुलाई 1931 की तारीख वो काला अध्याय है, जिस दिन जम्मू कश्मीर के इतिहास में सांप्रदायिक दंगों की शुरूआत हुई थी। दंगाईयों को रोकने की कोशिश में प्रशासन की कार्रवाई में मारे गये लोगों को शहीदों को दर्जा देकर पिछले 70 सालों से जम्मू कश्मीर में एक सांप्रदायिक एजेंडा Maryrs’ Day मनाया जाता रहा है। जबकि जम्मू के डोगरा इसको ब्लैक डे के रूप में मनाते हैं। जिस दिन महाराजा हरि सिंह के खिलाफ सांप्रदायिक ताकतों ने हिंसा के सहारे पूरे श्रीनगर को दंगों की आग में झोंक दिया था। वो आग जो आज तक नहीं ..

“कश्मीर की नयी पीढ़ी दूसरे राज्यों की तुलना में ज्यादा महत्तवाकांक्षी हैं, हमें उन तक पहुंचना है, क्योंकि वो हमारे साथ चलने को तैयार हैं”- डॉ जितेंद्र सिंह, केंद्रीय मंत्री, पीएमओ

   केंद्र सरकार में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ जितेंद्र सिंह ने जम्मू कश्मीर में आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों में नयी पीढ़ी को अपने साथ लेकर चलने का आव्हान किया। दिल्ली में जम्मू कश्मीर अध्ययन केंद्र द्वारा आयोजित एक पुस्तक के विमोचन में डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि- ''पिछले कुछ सालों से आईएएस और आईआईटी एग्जाम पास करने वाले ऐसे छात्रों की संख्या बढ़ रही है, जोकि आतंकवाद प्रभावित जिलों से आते हैं। हर साल 30 से 40 कश्मीरी बच्चे एनआईटी और आईआईटी एंट्रेस एग्जाम क्वालिफाई कर रहे हैं। ..

1975 में इंदिरा गांधी द्वारा शेख को जेल से निकाल सीधे सत्ता सौंपने की ऐतिहासिक गलती का नतीजा, 9 जुलाई 1977, जब शेख अब्दुल्ला फिर से बने जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री

    29 सितंबर 1947 को पंडित नेहरू और महात्मा गांधी की सलाह पर महाराजा हरि सिंह ने एक माफीनामे के बाद शेख अब्दुल्ला को रिहा कर दिया। इसके बाद जम्मू कश्मीर के अधिमिलन के बाद नेहरू ने जम्मू कश्मीर की सत्ता की चाबी सीधे जेल से बाहर आये शेख अब्दुल्ला के हाथों में सौंप दी। नेहरू शेख अब्दुल्ला को संपूर्ण जम्मू कश्मीर का एकमेव नेता घोषित थोपने की कवायद में जुटे थे और इसमें वो कामयाब भी रहे। लेकिन जम्मू कश्मीर की जनता के साथ सबसे बड़ा राजनीतिक धोखा था। खासतौर पर जम्मू, लद्दाख और श्रीनगर ..

J&K में जनमत संग्रह का प्रोपगैंडा चलाने वालों को गृहमंत्री का करारा जवाब- “आज सवाल ही नहीं है जनमत संग्रह का, 1949 में सहमति देना इतिहास की सबसे बड़ी गलती”

  जम्मू कश्मीर में यूएन सिक्योरिटी काउंसिल का हवाला देकर जनमत संग्रह कराने का प्रोपगैंडा पिछले 70 सालों से जारी है। पाकिस्तान और अलगाववादियों के अलावा देश के लिबरल पत्रकार भी अक्सर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर जम्मू कश्मीर में जनमत संग्रह कराने का प्रोपगैंडा फैलाते रहे हैं। देखिए अक्सर टीवी चैनलों पर बीजेपी विरोधी तकरीरें करने वाली पत्रकार सबा नकवी अल-जजीरा पर कैसे जनमत-संग्रह की हिमायत कर रही है। वीडियो 2016 का है...   जनमत संग्रह के प्रोपगैंडा पर देश की सरकारों ने कभी स्पष्ट राय ..

“130 अलगाववादी नेताओं के बच्चे विदेश में पढ़ रहे हैं और घाटी में स्कूल बंद करवा दिये”- अमित शाह का खुलासा, देखिए लिस्ट- किस-किस के बच्चे विदेश में मौज़ कर रहे हैं

   सोमवार को राज्यसभा में बोलते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में देश को तोड़ने की बात करने वाले अलगावदावियों के प्रति सरकार का नजरिया स्पष्ट कर दिया। अमित शाह ने कहा कि- “हमारा अप्रोच स्पष्ट है, जो भारत को तोड़ने की बात करेगा। उसको उसी भाषा में जवाब मिलेगा और जो भारत के साथ रहना चाहते हैं। उसके कल्याण की हम चिंता करेंगे।’’   अमित शाह ने खुलासा किया कि जम्मू कश्मीर में सक्रिय 130 अलगाववादी नेताओं के बच्चे विदेश में पढ़ रहे हैं और यहां कश्मीर ..

J&K में राष्ट्रपति शासन और जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक 2019 सर्वसम्मति से पास। कांग्रेस, टीएमसी, पीडीपी, डीएमके, आरजेडी और बीजेडी समेत तमाम दलों ने किया समर्थन

 लोकसभा में पास होने के बाद जम्मू कश्मीर में 3 जुलाई से और 6 महीने के लिए राष्ट्रपति शासन के प्रस्ताव को राज्यसभा में भी पास कर दिया गया। इसके अलावा राज्य में जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक 2019 भी सर्वसम्मति से पास कर दिया गया। राष्ट्रपति शासन के प्रस्ताव और विधेयक को पास करने के लिए कांग्रेस, टीएमसी, पीडीपी, डीएमके, आरजेडी और बीजेडी समेत तमाम दलों ने किया समर्थन दिया। बहस के अंत में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर के संदर्भ में आतंकवाद, सुरक्षा व्यवस्था, पत्थरबाज़ी औऱ चुनाव ..

राज्यसभा में अमित शाह ने पेश किया J&K में राष्ट्रपति शासन और आरक्षण (संशोधन) विधेयक पेश, बहस जारी

  लोकसभा में प्रस्ताव पास होने के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में 3 जुलाई से 6 महीने के लिए राष्ट्रपति शासन लागू करने का प्रस्ताव पेश किया है। 2 जुलाई को जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि समाप्त हो रही है। इसके अलावा अमित शाह ने अंतराष्ट्रीय सीमा पर रहने वाले लोगों के लिए आरक्षण के प्रावधान और जनरल कैटेगरी के गरीब वर्ग के लिए 10 फीसदी आरक्षण को जम्मू कश्मीर मे लागू करने के लिए जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक राज्यसभा में पेश किया है। बीजू जनता दल ने भी दोनों प्रस्तावों ..

“370 अस्थायी है, परमानेंट नहीं है, ये याद रखियेगा”, लोकसभा में अमित शाह ने रखा सरकार का मत, जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक और राष्ट्रपति शासन का प्रस्ताव लोकसभा में पास

   गृह मंत्री अमित शाह ने आज लोकसभा में जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक और 3 जुलाई से और 6 महीने के लिए राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने का प्रस्ताव पेश किया था। लोकसभा में जोरदार बहस के बाद दोनों ही बिल ध्वनिमत से लोकसभा में पारित कर दिये गये। इसके बाद दोनों बिल को राज्यसभा में पास होने के लिए भेजा जायेगा।  इस बीच इन प्रस्तावों पर विपक्ष के सवालों के जवाब में गृहमंत्री अमित शाह ने आर्टिकल 370, आतंकवाद, विधानसभा चुनाव और जम्मू कश्मीर में विकास के बारे में सरकार का पक्ष ..

गृह मंत्रालय का सीधा जवाब, अस्थायी है आर्टिकल 370

   जम्मू कश्मीर से संबंधित भारतीय संविधान के प्रावधान आर्टिकल 370 को लेकर मोदी सरकार की राय बेहद सपाट और स्पष्ट रही है। राज्य सभा में सांसदो द्वारा पूछे गये सवालों के जवाब में भी गृह मंत्रालय से वहीं तथ्य दोहराया कि आर्टिकल 370 एक टेम्परेरी और ट्रांज़िसनल प्रोविज़न है। यानि देर-सवेर इसका हटना संविधान के अनुरूप तय है। दरअसल ताजा मामले में कांग्रेस की राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, सुखराम सिंह यादव और विशम्भर प्रसाद निषाद के अलावा बीजेपी सांसद प्रभात झा ने आर्टिकल 370 की मौजूदा संवैधानिक ..

26 जून को दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर जायेंगे अमित शाह, सिक्योरिटी पर होगी हाई-लेवल मीटिंग

   केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 26 जून को 2 दिवसीय दौरे पर कश्मीर घाटी जाने वाले वाले हैं। पहले अमित शाह 30 जून को एक दिन के लिए श्रीनगर जाने वाले थे। लेकिन उस वक्त बजट के बिज़ी शेड्यूल के चलते दौरे पहले ही प्लान कर लिया गया है। अपने इस दौरे में अमित शाह श्रीनगर में एक हाई-लेवल मीटिंग में हिस्सा लेंगे। जिसमें आर्मी, खुफिया एजेंसियां और जम्म कश्मीर पुलिस के आला अधिकारी मौजूद रहेंगे। इसके बाद अमित शाह बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे और फिर पंचायत मेंबर्स के साथ भी अलग से एक कार्यक्रम ..

अमित शाह आज पेश करेंगे अपना पहला बिल- जम्मू कश्मीर रिज़र्वेशन अमेंडमेंट बिल

  गृह मंत्री अमित शाह आज अपने लोकसभा करियर का पहला बिन पेश करेंगे, जोकि जम्मू कश्मीर से जुड़ा है। अमित शाह आज लोकसभा में जम्मू कश्मीर रिज़र्वेशन अमेंडमेंट बिल पेश करेंगे। जोकि जम्मू कश्मीर में आर्थिक रूप से कमज़ोर जनरल कैटेगरी के लिए 10 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था करेगा।  चुनाव से पहले मार्च में ही एक ऑर्डिनेंस जारी कर इस कानून का लागू किया गया था। लेकिन अब इसे संसद में पास कराना ज़रूरी है। इस ऑर्डिनेंस के तहत जम्मू एंड कश्मीर रिज़र्वेशन एक्ट, 2004 में बदलाव किया गया था। इस ऑर्डिनेंस ..

डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मृत्यू पर जेपी नड्डा ने लगाया कांग्रेस और नेहरू पर सीधा और बड़ा आरोप #WATCH

भारतीय जन संघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की संदिग्ध मौत पर बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बड़ा सवाल खड़ा किया है। जेपी नड्डा ने तत्कालीन प्रधानमंत्री और कांग्रेस सर्वेसर्वा जवाहर लाल नेहरू पर सीधा आरोप लगाया है। 66वें बलिदान दिवस पर जेपी नड्डा ने कहा है कि - “सारे देश ने इंक्वायरी मांगी, उनकी माताजी ने इंक्वायरी मांगी, लेकिन पंडित नेहरू ने इंक्वायरी नहीं कराई...” देखिए पूरा वीडियो-  23 जून 1953 में डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी की मृत्यू की पूरी कहानी जानने के ..

“सामने से फायरिंग होगी तो जनरल साब जवाब बुके से नहीं, बुलेट से ही देंगे”- J&K गवर्नर सत्यपाल मलिक

    जम्मू कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने आज राज्य में आतंकवाद के घटते प्रभाव और बढ़ते विकास कार्यों पर संतुष्टि जाहिर की। गवर्नर ने कहा कि जुम्मे की नमाज़ के बाद पत्थरबाज़ी लगभग रूक चुकी है। हम युवाओं को वापिस मेनस्ट्रीम में लाना चाहते हैं। उसके लिए स्कीम सोची जा रही हैं। लेकिन ये सच कि अगर सामने से फायरिंग हो रही हो तो आप उसे बुके तो देंगे नहीं, जनरल साब उसका जवाब बुलेट से ही देंगे।    गवर्नर आज शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कांफ्रेंस सेंटर में एक दूरदर्शन के सरकारी ..

शाह फैसल और इंजीनियर रशीद का प्री-पोल अलायंस- बनाया पीपल्स यूनाइटेड फ्रंट, कश्मीर में अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार की राजनीति के खिलाफ मैदान में

  बारामूला सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने वाले निर्दलीय उम्मीदवार इंजीनियर रशीद ने 1,02168 वोट पाकर सबको चौंका दिया। तीसरे स्थान पर रहे इंजीनियर रशीद ने पीडीपी और कांग्रेस दोनों के टोटल वोट से ज्यादा वोट हासिल किये थे। इस चुनाव में हालिया नेता बने शाह फैसल ने भी इंजीनियर रशीद का समर्थन किया था। हालांकि शाह फैसल की पार्टी ने खुद चुनाव नहीं लड़ा था।  अब जब जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी हैं। अमरनाथ यात्रा के बाद चुनावों की घोषणा की संभावना है, यानि अक्टूबर में। ..

J&K में करप्शन पर सर्जिकल स्ट्राइक जारी, श्रीनगर डिप्टी मेयर के ठिकानों पर छापेमारी में J&K बैंक से जुड़े 170 करोड़ के लोन घोटाले और सैंकड़ों करोड़ की अवैध संपत्ति का खुलासा

  मंगलवार को इनकम डिपार्टमेंट ने श्रीनगर के डिप्टी मेयर इमरान शेख के ठिकानों पर छापेमारी की। जिसमें सैंकड़ों करोड़ के घपलों का खुलासा हुआ। इसमें J&K बैंक से लिया गया 170 करोड़ के लोन का खपला भी शामिल है। इन छापेमारी में आईटी डिपार्टमेंट ने शेख इमरा की सोनमर्ग, पहलगाम, दिल्ली और बैंगलोर में अवैध प्रॉपर्टी का खुलासा भी किया।  आईटी डिपार्टमेंट की प्रेस रिलीज़ के मुताबिक- आईटी डिपार्टमेंट ने मंगलवार को श्रीनगर के एक बिजनेस ग्रुप के श्रीनगर में 8, बैंगलोर में 1 और दिल्ली में 1 ठिकाने ..

#Exposed AAP के पूर्व नेता आशुतोष की वेबसाइट सत्यहिंदी.कॉम के कोरे असत्य का पर्दाफाश, देखिए जम्मू कश्मीर के नाम पर कैसे झूठ फैलाया जा रहा है

 “ क्योंकि आपको जानना चाहिए सच “ यह टैग लाइन है ऑनलाइन पोर्टल सत्यहिंदी.कॉम की . अप अपनी ही टैग लाइन पर यह पोर्टल कितना खरा उतरता है , यह स्पष्ट होता है 5 जून , 2019 की लेख की जांच से। जिसका शीर्षक है . क्या जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा जल्द ही ख़त्म हो जाएगा?   केवल यह शीर्षक इस बात को समझने के लिए काफी है कि “ सत्यहिंदी.कॉम “ सत्य और तथ्य दोनों से कौसों दूर है। लेख के इस शीर्षक को पढने से लगता है जैसे जम्मू कश्मीर को संविधान ने कोई विशेष दर्जा दिया है जिसे ..

पंजाब की सियासी जंग में कैप्टन ने सिद्धू को दी पटखनी, बड़बोले सिद्धू को किया कैबिनेट से आउट, गांधी परिवार का आशीर्वाद भी काम न आया

  पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिद्धू के बीच चल रही राजनीतिक जंग में आज कैप्टन ने विजयी छक्का मारकर सिद्धू को पस्त कर दिया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को अपनी कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। सिद्धू से शहरी विकास मंत्रालय का पदभार छीन लिया गया है। आज रात तक कैबिनेट में फेरबदल की आधिकारिक घोषणा कर दी जायेगी। आपको बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच सियासी जंग कई महीनों से चल रही है। सिद्धू ने पाकिस्तान जाकर जब पाकिस्तानी आर्मी चीफ ..

बेंगलुरू-बेगुसराय में अपार सफलता के बाद एक्टर प्रकाश राज की फुरसतिया क्रांति अब पहुंची कश्मीर, एक तरफ फिल्म-शूटिंग तो दूसरी तरफ फैसल-शेहला मार्का पॉलिटिक्स का प्रचार भी जारी

   हालिया लोकसभा चुनाव में एक्टर प्रकाश राज बेंगलुरू मध्य सीट से न तो खुद की जमानत बचा पाये, न ही उस किसी उम्मीदवार को फायदा पहुंचा पाये। जहां-जहां प्रकाश राज ने चुनाव प्रचार किया था, मसलन बेगुसराय में कन्हैया कुमार, आरा में भाकपा उम्मीदवार और दिल्ली में आम आदमी पार्टी उम्मीदवारों के लिए। लेकिन चौतरफा करारी हार के बाद एक्टर प्रकाश राज का राजनीतिक क्रांति का ख्वाब अभी भी पल रहा है। यहीं वजह है कि कश्मीर में फिल्म की शूटिंग में मसरूफ होने के बावजूद प्रकाश राज शाह फैसल, शेहला रशीद मार्का ..

मोदी सरकार 2.0 बनते ही कश्मीर एडिटर्स गिल्ड में भी शुरू हुई हलचल, ग्रेटर कश्मीर एडिटर ने दिया इस्तीफा, आखिर पुरानी सरकारों में मलाई खाने वाले पत्रकारों में क्यों बढ़ी बेचैनी?

   जम्मू कश्मीर में पुलवामा हमले के बाद केंद्र सरकार ने राज्य प्रशासन के जरिये कश्मीर के अलगाववादी पसंद मीडिया पर भी नकेल कसनी शुरू की थी। इस कड़ी में राज्यपाल ने ग्रेटर कश्मीर और कश्मीर रीडर समेत कई अखबारों के सरकारी विज्ञापन बंद कर दिये थे। जिससे ये अखबार करोड़ों का धंधा किया करते थे। लेकिन फिर भी अलगाववादी और आतंकवाद परस्त रिपोर्टिंग किया करते थे। इन मीडिया हाउसेस को उम्मीद थी कि दिल्ली में सरकार बदलेगी तो इनकी किस्मत फिर पलटेगी। लेकिन मोदी सरकार और मजबूती के साथ दोबारा सत्ता में ..

J&K गवर्नर सत्यपाल मलिक ने की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात, राज्य के मौजूदा हालात की दी जानकारी, कश्मीर में मीरवाइज के बदले सुर

  गृहमंत्री अमित शाह ने आज नॉर्थ ब्लॉक में अपने मंत्रालय का पदभार संभाल लिया। जिसके बाद गृहमंत्री ने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात की। जिसमें राज्यपाल ने राज्य के मौजूदा हालात, विकास कार्यों और चुनौतियों की चर्चा गृहमंत्री से की। राजनीतिक हलकों में इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। क्योंकि अमित शाह के गृहमंत्री की खबर सामने आते ही तमाम राजनीतिक पंडित ये मान रहे हैं कि जम्मू कश्मीर में बहुत जल्द और तेज़ी से हालात बदलेंगे। गृहमंत्री से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते ..

लगातार तीसरे दिन मीडिया का एक और झूठ बेनकाब, मुंबई में फिल्म कलाकारों को मुस्लिम आतंकी होने के शक में गिरफ्तार करने की खबर भी निकली फेक न्यूज़

  29 मई को टीवी9 गुजराती ने एक खबर ट्वीट की, जिसमें कहा गया कि मुंबई पुलिस ने फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले 2 मुस्लिम युवकों को इसीलिए आतंकी समझकर गिरफ्तार कर लिया गया। क्योंकि उनका “गेट-अप” आतंकियों जैसा था। ये भी बताया गया कि ये दोनों रितिक रोशन और टाइगर श्रॉफ की मूवी की शूटिंग के लिए जा रहे थे।  बस फिर क्या था, एनडीटीवी, टीवी-18, इंडियन एक्सप्रैस, इंडिया टुडे और रशियन टुडे जैसे कई इंटरनेशनल मीडिया ग्रुप ने इस खबर को बिना वेरिफाई किये ज्यों का त्यों छाप दिया। ..

अमित शाह बने नये गृह मंत्री, अब अनुच्छेद 370, 35A समेत अलगाववादी, नक्सली और रोहिंग्या घुसपैठियों की खैर नहीं

  मोदी सरकार ने नये मंत्रियों के पदभार की घोषणा कर दी है और इसी के साथ घोषणा हो गयी उस दिशा और कार्यप्रणाली की भी। जिस ओर नयी सरकार की नीतियां तय होनी है। अमित शाह को गृह मंत्री बनाकर पीएम मोदी ने प्राथमिकता तय कर दीं हैं। जानकार बता रहे हैं कि इन प्राथमिकताओं में अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने और जम्मू कश्मीर में अलगाववादियों, नक्सलियों पर लगाम लगाने के साथ-साथ देशभर से रोहिग्यां घुसपैठियों को वापिस भेजना शामिल है।  अनुच्छेद 370 और 35A का भविष्य??  आपको बता दें कि जम्मू ..

मोदी सरकार पहले 100 दिनों में कर सकती है ऐतिहासिक इकोनॉमिक रिफॉर्म, एयर इंडिया समेत 44 सरकार उपक्रमों का निजीकरण संभव- रायटर्स

   मोदी सरकार की शपथ के बाद आने वाले दिनों में होने वाले फैसलों को लेकर तस्वीर धीरे-धीरे साफ होने लगी है। सरकार के सामने सबसे बड़ा चैलेंज इकॉनोमी को मजबूत करना है। इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी रायटर्स के मुताबिक सरकार पहले 100 दिनों में ऐतिहासिक इकॉनोमिक रिफॉर्म्स का खाका तैयार कर चुकी है। नीति आयोग द्वारा तैयार खाके के मुताबिक आने वाले दिनों में लेबर लॉ, निजीकरण, बैंकिंग और इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट से जुड़े ढेरों बदलाव होने तय हैं। जिससे फॉरेन इंवेस्टमेंट को आकृषित करने में आसानी हो।  &nbs..

ये 2 चेहरे बने नयी मोदी सरकार की प्रतिभा की पहचान, देखिए मोदी कैबिनेट की पूरी लिस्ट

   नरेद्र मोदी ने दूसरी बार शपथ ग्रहण कर इतिहास रच दिया। साथ ही शपथ ली 58 मंत्रियों ने। जिसमें 28 कैबिनेट मिनिस्टर हैं, 20 स्वतंत्र प्रभार और 9 राज्य मंत्री। इनमें 2 चेहरे ऐसे रहे, जिन्होंने सबको चौंका दिया, लेकिन यहीं चेहरे आने वाली मोदी सरकार की दिशा और पहचान तय करने वाले हैं। इनमें पहला नाम रहा सुब्रमनयम जयशंकर का। जो कि पूर्व विदेश सचिव रह चुके हैं, इससे पहले वो चीन, अमेरिका और रूस के राजदूत भी रह चुके हैं। डोकलाम विवाद में भारत की जीत सुनिश्चित करने वाले एस जयशंकर मोदी सरकार में ..

J&K: जितेंद्र सिंह का दोबारा मंत्री बनना तय, इस बार ऊधमपुर सांसद बनाये जा सकते हैं कैबिनेट मंत्री

  राष्ट्रपति भवन में आज शाम नरेंद्र मोदी दोबारा पीएम पद की शपथ लेंगे। इससे पहले मोदी सरकार में मंत्री बनने वाली लिस्ट लगभग साफ हो गयी है। मंत्री पद के लिए जिनको फोन आ चुका है, उनमें राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, अर्जुनराम मेघवाल, जितेंद्र सिंह, धर्मेंद्र प्रधान, रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल, स्मृति ईरानी, कृष्ण पाल गुर्जर, बाबुल सुप्रियो, सदानंद गौड़ा, मुख्तार अब्बास नकवी, जी किशन रेड्डी, निर्मला सीतारमण,सुरेश अंगाडी, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, संजय धोत्रे, सोम प्रकाश, किरण रिजिजू, ..

देखिए TIME कैसे रंग बदलता है, टाइम मैगज़ीन का नया खुतबा, मोदी को अब घोषित किया UNITER OF INDIA

   मीडिया इंटरनेशनल हो या देशी, फायदा देखकर रंग बदलना उसकी अदा है। इसका ताज़ा उदाहरण है टाइम मैगज़ीन। चुनाव के दौरान मई के पहले हफ्ते में टाइम मैगज़ीन ने एक मोदी विरोधी संस्करण छापा था। जिसमें मोदी को India’s Divider in Chief की उपाधि से नवाज़ा था। भारत में मोदी विरोधी पार्टियों, पत्रकारों और एक्टिविस्टों ने इस आर्टिकल को जमकर शेयर किया था और इंटरनेशनल मीडिया में मोदी की निगेटिव छवि का सहारा लेकर जमकर चुनावी माहौल तैयार किया था। लेकिन जाहिर है तमाम दांव उल्टे पड़े, मोदी ने देश ..

लिबरल मीडिया का भाषाई आतंक जारी, इस्लामिक स्टेट के आतंकियों को बता रहे हैं एक्टिविस्ट और वर्कर, हिंदू नारों और शब्दावली को बदनाम करने का गोरखधंधा चरम पर

  पिछले 5 सालों में लिबरल मीडिया ने हिंदुत्व को आतंकवाद से जोड़ने की भरपूर कोशिश की, दो तरफा प्रोपगैंडा चलाया गया। एक तरफ हिंदुत्व आतंकवाद का जुमला बार-बार उछाला गया और साथ ही दुनिया भर में खतरा बने मुस्लिम आतंकवाद को इस्लामोफोबिया के नाम पर खारिज किया गया। लेकिन इस चुनाव में लोगों ने इस प्रोपगैंडा की हवा निकाल दी। रिजल्ट के तुरंत बाद चौतरफा हार के बावजूद भी लिबरल मीडिया का ये प्रोपगैंडा रूका नहीं है। बल्कि और तेज़ हो गया है..। आइये हम आपको कुछ उदाहरण के साथ समझाते हैं।   पहला ..

Exposed: सीसीटीवी ने खोली गुरूग्राम में मुस्लिम युवक की झूठी कहानी की पोल, न मारपीट हुई और न ही कपड़े फटे, 6 नहीं सिर्फ एक शराबी से हुआ था झगड़ा

  मोदी की शानदार जीत से बौखलाये लिबरल मीडिया और लूटियन एक्टिविस्ट पिछले 3 दिनों से एक मुस्लिम युवक के साथ हुई मारपीट को लेकर हल्ला मचाये हुए। घोषणा की जा रही थी, कि कैसे मुस्लिम देश में असुरक्षित हैं। लेकिन लिबरल पत्रकारों-एक्टिविस्ट्स को उस वक्त गहरा सदमा पहुंचा। जब गुरूग्राम पुलिस की जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि पीड़ित मुस्लिम युवक की कहानी ही झूठी है। मुस्लिम युवक मोहम्मद बरकत आलम ने जो बयान दिया था, सीसीटीवी में हकीकत उससे कहीं जुदा निकली। दरअसल बरकत आलम ने दावा किया था ..

डियर लिबरल्स, North, East-West के बाद South इंडिया में भी नंबर-वन बनी बीजेपी, देखिए आंकड़े

  जब 1996 में पहली बार बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी और वाजपेयी सरकार बनी, तब लिबरल गैंग मीडिया और पार्टियों ने बीजेपी को काऊ-बेल्ट की पार्टी या हिंदी भाषी क्षेत्र की पार्टी घोषित कर बीजेपी के बढ़ते वर्चस्व को कमतर करने की कोशिश की। आज जब बीजेपी अकेले अपने दम पर 303 सीट जीतकर सरकार बना रही है, अभी भी सोशल मीडिया पर साउथ इंडिया में न जीत पाने का प्रोपगैंडा फैलाया जा रहा है। बताया रहा है कि यहां अभी भी कांग्रेस का वर्चस्व है, जबकि सच ये है कि पूरे साउथ इंडिया के 6 राज्यों (कर्नाटका, आंध्र ..

गोण्डा में 23 मई को एक मुस्लिम परिवार में जन्मा बच्चा, मां ने गर्व से नाम रखा नरेंद्र मोदी, परिवार का भी समर्थन

  मोदी विरोधी लिबरल मीडिया भले ही मोदी के मुस्लिम विरोधी करार देने में कोई कसर न छोड़ते हों, लेकिन पिछले सालों में मोदी सरकार ने जाति और धर्म का भेदभाव किये बिना हरेक गरीब तक गैस, पक्का मकान और स्वास्थ्य स्कीम पहुंचायी। नतीजा ये हुआ कि लोगों ने जाति-धर्म से ऊपर उठकर मोदी को जिताया। मुस्लिमों में मोदी का क्या प्रभाव है इसका एक उदाहरण देखने मिला यूपी के गोंडा जिले में। यहां एक मुस्‍ल‍िम परिवार ने पीएम मोदी से प्रभावित होकर अपने घर जन्म लेने वाले बच्‍चे का नाम ही उनके नाम ..

घाटी की राजनीति में अब उमर अब्दुल्ला और सज्जाद लोन के बीच होगा सीधा मुकाबला, पीडीपी और कांग्रेस रेस से बाहर

  लोकसभा चुनाव के नतीजों ने कश्मीर घाटी की राजनीति में भी नया मोड़ ला दिया है। कश्मीर ने जनता ने एक तरफ पिछली मुख्यमंत्री पीडीपी को हाशिये पर फेंक दिया है। वहीं दूसरी तरफ जनता ने नेशनल कांफ्रेंस को पहली पसंद के तौर पर चुना और तीनों सीट एनसी ने जीती। लेकिन जनता ने इसके साथ-साथ एक और नेता पर अपना भरोसा जताया है, वो हैं जम्मू कश्मीर पीपल्स कांफ्रेंस के सज्जाद लोन। कश्मीर की 3 लोकसभा सीटों पर मिले वोटों का आंकड़ा बताता है, घाटी में अब सीधा मुकाबला अब्दुल्ला परिवार और सज्जाद लोन के बीच होगा। &nbs..

जाकिर मूसा के जनाजे में Islamic State के झंडों और नारेबाजी पर चुप, लेकिन मध्य प्रदेश में एक शख्स के साथ मारपीट के नाम पर फेक न्यूज फैलाने में सबसे आगे निकली महबूबा मुफ्ती

   लोकसभा चुनाव नतीज़ों में जनता ने महबूबा को 5 नंबर पर पहुंचा दिया। जिसके बाद महबूबा मुफ्ती चुप हो गयीं थी, एकदम शांत। 23 मई को कश्मीर घाटी में सुरक्षा एजेंसियों ने मोस्ट वांटेड आतंकी, अल-कायदा और इस्लामिक स्टेट समर्थित आतंकी जाकिर मूसा को मार गिराया। लेकिन महबूबा चुप रहीं, कुछ नहीं बोली। इसके अगले दिन पुलवामा के त्राल इलाके के नूरपोरा में जाकिर मूसा को दफनाने के दौरान जमकर इस्लामिक स्टेट और पाकिस्तान के लिए नारे लगे। चारों तरफ इस्लामिक स्टेट के झंडे लहराये गये, यहां तक कि जाकिर मूसा ..

अमेठी से राहुल के हारने पर राजनीति छोड़ने का वायदा भले न निभायें सिद्धु, लेकिन अमरिंदर सिंह ने कर ली है कैबिनेट से बाहर करने की तैयारी

 पाकिस्तानी दौरे के दौरान आर्मी जनरल बाजवा के साथ गलबहियां करने की सज़ा देने का फैसला आखिरकार पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कर लिया है। देश भर में करारी हार के बावजूद पंजाब में 13 में 8 लोकसक्षा सीट जीतने पर भी अमरिंदर सिंह खुश नहीं है। अमरिंदर सिंह ने सिद्धु को बाकी की सीटों पर हार का जिम्मेदार ठहराते हुए कार्रवाई करने की घोषणा कर दी है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि बठिंडा समेत शहरी इलाकों में कांग्रेस इसीलिए हारी क्योंकि नवजोत सिद्धु ने पाकिस्तान जाकर जनरल बाजवा के गले लगा और पंजाब में ..

46.4 फीसदी वोट के साथ जम्मू कश्मीर की पहली पसंद बनी बीजेपी, अब बीजेपी सरकार को करने होंगे ये 5 काम

  जनता ने अपना फैसला सुना दिया है, देश के साथ जम्मू कश्मीर की जनता ने भी मोदी सरकार में सबसे ज्यादा भरोसा जताया है। जम्मू कश्मीर ने बीजेपी ने 46.4 फीसदी वोट हासिल किये हैं। जोकि पीडीपी, एनसी और कांग्रेस के टोटल से भी ज्यादा है। लेकिन अब वक्त जनता के भरोसे पर खरा उतरने का है। इसबार लोकसभा चुनाव में जम्मू कश्मीर से जुड़े विषय छाए रहे। चाहे वो पुलवामा हमला हो, बालाकोट एयर स्ट्राइक हो या अनुच्छेद 35 A और 370 । जहाँ मोदी और अमित शाह ने पूरे देश में घूम-घूम कर इन दोनों अनुच्छेदों को हटाने की बात ..

चुनाव नहीं लड़ा, लेकिन फिर भी देशभर में लिबरल गैंग की करारी हार, देखिए कैसे रोये जार-जार

  करीब 350 सीटों पर जीत हासिल कर एनडीए ने एक शानदान जीत का इतिहास रचा है। लेकिन ये जीत सिर्फ उन विपक्षी पार्टियों पर भारी नहीं पड़ी जो चुनाव लड़ रहे थे। मोदी की ये जीत उनपर ज्यादा भारी दिखायी दे रही है, जोकि चुनाव लड़े ही नहीं। यानि देश के टुकड़े-टुकड़े गैंग का फेवरेट लिबरल गैंग। पिछले 5 साल से मोदी विरोध पर मेहनत करने वाले लिबरल गैंग के अरमानों पर पानी फेर गयी। लिबरल पत्रकारों, एक्टर्स और नेताओं का ये गैंग अपनी हार का गम छिपा नहीं पाया। सोशल मीडिया पर सबने अपना-अपना दुखड़ा कुछ यूं रोये ..

जम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ्ती का सूपड़ा साफ, राज्य में पीडीपी पहुंची 5वें नंबर पर, बीजेपी-3 और नेशनल कांफ्रेंस-3 सीटों पर आगे

  लोकसभा चुनाव के नतीजे से साफ है कि जम्मू कश्मीर के लोगों ने महबूबा मुफ्ती को साफ संदेश दिया है, कि जम्मू कश्मीर में जनता सिर्फ भारत का झंडा उठायेगी। ताज़ा नतीज़ों के मुताबिक 6 सीटों में से कश्मीर की तमाम 3 सीट पर नेशनल कांफ्रेंस और जम्मू-ऊधमुपर-लद्दाख की 3 सीटों पर बीजेपी परचम लहराने को तैयार है। जबकि महबूबा मुफ्ती की पीडीपी तमाम सीटों पर पिछड़ी हुई है। यहां तक कि सिर्फ श्रीनगर की एक सीट पर वो दूसरे नंबर पर है। अपने गढ़ अनंतनाग से खुद महबूबा मुफ्ती तीसरे नंबर पर चल रही हैं।   &nb..

राहुल क्यों हारे, मोदी क्यों जीते ? 11 बड़ी बातें, चुनाव नतीजों पर त्वरित टिप्पणी

    लेखक- बृजेश द्विवेदी   1- मोदी मैजिक और व्यक्ति केंद्रित चुनाव  साल 2019 का ये आम चुनाव मोदी मैजिक और मोदी विरोध पर लड़ा गया। नतीजा हम सबके सामने है। भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में ऐसा 48 बरस बाद हुआ है। 1971 का आम चुनाव व्यक्ति केंद्रित इंदिरा गांधी और इंदिरा गांधी के विरोध में लड़ा गया था। तब विपक्ष ने इंदिरा हटाओ का नारा दिया लेकिन इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाओ का नारा दिया और लोकसभा की 352 सीटें जीतीं थी। 2019 का पूरा चुनाव नरेन्द्र मोदी पर केंद्रित ..

जम्मू कश्मीर की 5 चुनौतियां, अगर मोदी सरकार बनीं तो सबसे पहले इनसे निपटना होगा

कल यानी 23 मई को 15 वीं लोकसभा के चुनावी नतीजे घोषित होने जा रहे हैं । एग्जिट पोल्स की मानें तो भारतीय जनता पार्टी अकेले नहीं, तो एनडीए की सरकार बनने जा रही है । इसबार लोकसभा चुनाव में जम्मू कश्मीर से जुड़े विषय छाए रहे। चाहे वो पुलवामा हमला हो, बालाकोट एयर स्ट्राइक हो या अनुच्छेद 35 A और 370 । जहाँ मोदी और अमित शाह ने पूरे देश में घूम-घूम कर इन दोनों अनुच्छेदों को हटाने की बात की, वहीं महबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्ला के तेवर भी धमकियों से भरे रहे। अलगाववादियों पर कसता शिकंजा और आतंकवादियो पर ..

रिजल्ट से पहले ही विपक्षी पार्टियों और मोदी विरोधी पत्रकारों ने शुरू किया EVM में धांधली का प्रोपगैंडा

   एग्जिट पोल में जोरदार हार की संभावना देखकर विपक्षी पार्टियों और मोदी विरोधी पत्रकारों ने सोशल मीडिया पर ईवीएम में धांधली का देशव्यापी प्रोपगैंडा शुरू कर दिया है। पिछले 24 घंटों से ट्विटर और फेसबुक पर फेक न्यूज फैलायी जा रही हैं। दरअसल चंदौली, गाजीपुर, फतेहाबाद जैसी कुछ जगहों के वीडियो ईवीएम में धांधली का वीडियो बताकर फैलाया जा रहा है। बताया गया कि ईवीएम बदली जा रही हैं, एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा रहा है। जोकि असल में इस्तेमाल न हुई ईवीएम मशीनें थी। जिन्हें शिफ्ट किया जा रहा था। ..

एग्जिट पोल के बाद बोले अब्दुल्ला- टीवी बंद करने और सोशल मीडिया से लॉग-आउट करने का समय आ गया

  तमाम एग्जिट पोल में बीजेपी की जबरदस्त जीत की संभावना के बाद विरोधियों ने हथियार डालने शुरू कर दिये हैं। इनमें सबसे आगे रहे पीपल्स कांफ्रेंस के उमर अब्दुल्ला। उमर अब्दुल्ला एग्जिट पोल देखने के बाद ने ट्वीट कर कहा कि- “हरेक एग्जिट पोल गलत नहीं हो सकता, अब समय है टीवी बंद करने का, सोशल मीडिया से लॉग-आउट करने का। इंतजार करिये कि 23 तारीख का देखने के लिए कि क्या ये धरती अपनी धुरी पर घूम रही है..क्या।“   जाहिर है उमर अब्दुल्ला मोदी की जीत साफतौर पर तस्लीम कर रहे हैं। ..

शाह फैसल की नयी राज-नीति- जम्मू में रोहिंग्या बसाओ, वोट बढ़ाओ

  जम्मू कश्मीर में आईएएस से नेता बने शाह फैसल ने जनवरी में राजनीति में कदम रखा, तो सोचा था कि कुछ क्रांतिकारी राजनीतिक धमाका होगा। लेकिन पार्टी लॉन्च से पहले ही फुस्स हो गयी। घोषणा की गयी कि वो लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी, पहले काडर और कार्यकर्ता खड़ा करेगी। इसमें भी पार्टी को कोई सफलता नज़र नहीं आई तो शाह फैसल ने नयी राज-नीति की शुरूआत की। फैसल की पार्टी ने जम्मू क्षेत्र में बसे रोहिंग्या घुसपैठियों को बसाने और उन्हें अपने खेमे में करने की योजना तैयार कर ली है। 17 मई को शाह फैसल के जन्मदिन ..

इंटरनेशनल मीडिया में मुसलमानों के झूठे डर को बेचकर जेब भर रहे हैं लिबरल पत्रकार, वाशिंगटन पोस्ट में राणा अयूब के लेफ्टिस्ट एजेंडे का पर्दाफाश

   लेखक- प्रभाकर श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार  राणा अयूब देश की एक जानी-मानी पत्रकार हैं । वे हमेशा से विवादों में रहती हैं, लेकिन पहली बार मुझे उनके एक लेख से बेहद दुख पहुँचा है। ये लेख हाल ही में अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट में छपा है। इस लेख में उन्होंने लिखा है कि भारत के मुसलमानों को 23 मई का डर सता रहा है कि कहीं मोदी वापस सत्ता में न आ जाएँ । उन्होंने ये भी कहा कि भारत में लोकतंत्र खतरे में है। राणा अयूब के भारत को नीचा दिखाने वाले इस लेख में बताया गया है कि इस देश में ..

मोदी के खिलाफ 12 ट्वीट, लेकिन बांदीपोरा रेप केस पर एक ट्वीट किया महबूबा मुफ्ती ने, उसमें भी कहा- चाहिए शरिया कानून

 बांदीपोरा में 3 साल की बच्ची के साथ वहशियाना रेप के बाद पूरी घाटी में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। राज्यपाल और पुलिस अपराधी को जल्द से जल्द सज़ा दिलवाने की कोशिश में जुटे हैं। लेकिन कठुआ रेप केस में दिन-रात एक करने वाली एक हफ्ते में 2 रेप केस के मामले सामने आने पर भी महबूबा मुफ्ती चुप मारकर बैठी। ऐसा नहीं हैं कि महबूबा बिजी हैं या इन सबसे अनजान हैं। बांदीपोरा रेप केस बाद महबूबा मुफ्ती ने मोदी के खिलाफ दनादन 12 ट्वीट किये, घाटी की सबसे बड़ी खबर पर सिर्फ एक ट्वीट।    लेकिन इसमें भी ..

सावधान!! “मोदी फिर से सत्ता में आये तो करना होगा तख्तापलट”, समर्थन में रिटायर्ज लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा- इंकलाब

सावधान!! “मोदी फिर से सत्ता में आये तो करना होगा तख्तापलट”, समर्थन में रिटायर्ज लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा- इंकलाब..

6 फेज खत्म होने के बाद कितना सटीक है, “आयेगा तो मोदी ही” का नारा, क्या सच पर भारी है अति आत्मविश्वास- एक नजर

आयेगा तो मोदी ही इस आत्मविश्वास के पीछे वज़ह क्या है ? रसिक लाल का गला भर आता है जब वह बताता है कि एक झोपड़ी में उसने जीवन गुज़र दिया,आज मोदी ने पक्का मकान बनबा दिया है ।घर में शौचालय बना दिया । देवरिया के रामसेवक प्रजापति कहते हैं कोई जात पात नहीं सिर्फ मोदी । मोदी नहीं तो और कौंन? कुछ उत्साही नौजवान कहते हैं कि मोदी ने पाकिस्तान को धूल चटा दी। आज कहीं आतंकवाद है? हर घर मे बिजली पहुँची है, 22 घंटे लाइट होती है। ये इसलिए क्योंकि मोदी है तो मुमकिन है। 2019 के चुनाव में "मोदी "सबसे प्रभावी नारा बन ..

सिर्फ शिकायत के आधार पर बिना जांच किये आर्मी पर मतदान में गड़बड़ी का आरोप क्यों लगाया लेह की डिप्टी कमिश्नर ने, आर्मी ने कहा- छवि बिगड़ाने के लिए लगाया गया आरोप

  10 मई को लेह की डिप्टी कमिश्नर और डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन ऑफिसर ने आर्मी की जीओसी, 14 कॉर्प्स के नाम एक पत्र लिखकर जवानों द्वारा किये गये मतदान में गड़बड़ी का आरोप लगा डाला। पत्र में कहा गया था कि डीसी लेह ने आरोप लगाया कि उन्हें शिकायत मिली है कि जवानों के लिए सुनिश्चित इलेक्ट्रानिक पोस्टल बैलेट सिस्टम के जरिये डाली जाने वाली मतदान प्रक्रिया में गलत तरीके से वोटिंग की गयी है। डीसी लेह अवनी लवासा को ये शिकायत एक स्थानीय कांग्रेस लीडर और दो निर्दलीय उम्मीदवारों असगर अली कर्बली और सज्जाद कारगिली ..

महबूबा तो नेता है राजनीति करेंगी, लेकिन आरफा खानम तो पत्रकार थीं, फिर पत्रकारिता क्यों नहीं की? द वायर की एजेंडा वाली पत्रकारिता का पर्दाफाश

   वर्तमान में देश में लोकसभा चुनाव जारी है। जम्मू कश्मीर में भी यह प्रक्रिया बीते दिन यानी 6 मई की शाम शोपियां और पुलवामा में मतदान के साथ खत्म हो गयी। मतदान के समाप्ति के साथ-साथ ही कम्युनिस्ट विचारधारा से सम्बन्ध रखने वाली वेबसाइट “ द – वायर “ ने जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती का एक इंटरव्यू जारी किया। यह इंटरव्यू वेबसाइट की सीनियर एडिटर आरफा खानम शेरवानी ने लिया। इस इंटरव्यू में कैसे इंटरव्यू लेने और देने वालो ने अपनी हिस्सेदारी को बरक़रार रखते ..

भोपाल: कांग्रेस के दबाव में चुनाव आयोग ने लगवायी साध्वी प्रज्ञा पर बनी डॉक्यूमेंट्री के प्रदर्शन पर रोक, प्रशासन ने पहले दी थी ‘भगवा-आतंक’ भ्रमजाल के प्रदर्शन की परमिशन

  सोमवार को भोपाल में एक बार फिर कांग्रेस और पुलिस प्रशासन का तानाशाही गठजोड़ देखने को मिला। जब पुलिस ने कांग्रेस के दबाव में भोपाल सीट की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा पर बनायी गयी डॉक्यूमेंट्री के प्रदर्शन पर रोक लगा दी। हालांकि पुलिस पहले इसी डॉक्यूमेंट्री ‘भगवा-आतंक’ भ्रमजाल के प्रदर्शन की परमिशन दे चुकी थी। लेकिन कांग्रेस की शिकायत पर चुनाव आयोग का एक दल एमपी नगर पुलिस के साथ होटल पहुंचा और इसे बीच में ही रुकवा दिया। एमपी नगर पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक मनीष राय ने कहा कि ..

कश्मीरी अलगाववादियों के नाम एक कश्मीरी स्टूडेंट का ओपन लेटर

    (अंग्रेजी से हिंदी में अनुवादित)  जम्मू कश्मीर के सबसे छोटे हिस्से की अनंतनाग लोकसभा सीट के लोकसभा चुनाव का अवलोकन यदि निष्पक्ष रूप से किया जाए तो कश्मीर में फैले आतंकवाद और उसकी जड़ें आप आसानी से समझ सकते है। यह देश की एकमात्र लोक सभा सीट है जहाँ तीन चरणों में चुनाव होना तय हुआ था। आज इस लोक सभा सीट के तीसरे और अंतिम चरण की वोटिंग होने जा रही है। इस वोटिंग से पहले गिलानी ने चुनाव के विरोध में बंद का एलान किया है I अनंतनाग के वेरीनाग में गुल मोह्हमद मीर नाम के कश्मीरी ..

‘पप्पू नहीं हैं राहुल गांधी’- सैम पित्रोदा का दावा

   कुछ साल पहले तक पप्पू भारत के आम घरों में एक प्यारा निकनेम होता था। यहां तक कि बिहार के एक बाहुबली नेता का नाम पप्पू यादव रहा। जो कभी मजाक का विषय नहीं बना। लेकिन पिछले कुछ सालों में राजनीति ने इस नाम को मजाक बना कर रख दिया है और ये नाम चिपक गया राहुल गांधी के नाम के साथ। सोशल मीडिया ये राहुल गांधी का पर्याय बन चुका है। यहां तक कि कांग्रेस नेताओं के जेहन में भी...इसका एक उदाहरण आज देखने को मिला कांग्रेस ओवरसीज़ के प्रेजीडेंट सैम पित्रोदा की प्रेस कांफ्रेंस में। जब अपने नेता राहुल ..

लेह में बीजेपी रैली में उमड़ी रिकॉर्ड भीड़ ने उड़ायी कांग्रेस की नींद, पार्टी ने अनंतनाग में भी झोंकी ताकत, जम्मू कश्मीर में प्रचार खत्म

  जम्मू कश्मीर की 2 लोकसभा सीटों पर मतदान के लिए आज चुनाव प्रचार खत्म हो गया। लद्धाख और अनंतनाग के शोपियां-कुलगाम जिले में अब 6 मई को मतदान होना है। लेकिन इससे पहले अंतिम दिन बीजेपी ने दोनों लोकसभा सीट पर पूरी ताकत झोंक दी। लेह में आज रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन, बीजेपी महासचिव राम माधव ने उम्मीदवार जमयांग नामग्याल के पक्ष में प्रचार किया। रैली में उमड़ी भी ने कांग्रेस की बैचेनी बढ़ा दी है। देखिए तस्वीरें और वीडियो-       वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने अनंतनाग ..

आतंकी गढ़ अनंतनाग में भी भारी पड़ सकती है बीजेपी, पंचकोणीय मुक़ाबले में बीजेपी की रैली ने उड़ायी सबकी नींद

 अनंतनाग देश की अकेली संवेदनशील सीट है जहां लोकसभा चुनाव 3A चरणों में पूरा होना है। अनंतनाग ज़िले में वोटिंग के बाद सोमवार को अनंतनाग के कुलगाम ज़िले में मतदान होना है। लेकिन उससे पहले राजनीतिक समीकरण कुछ ऐसे बैठे हैं कि राजनीतिक जानकार इस सीट पर जीत के आसार देखने लगे हैं। यूं तो ये क्षेत्र पीडीपी का गढ़ मानी जाती है और इस सीट पर खुद महबूबा मुफ्ती मैदान में हैं। लेकिन बीजेपी के साथ सत्ता में रहने के बाद पीडीपी के कोर वोटर नाराज़ हैं। वहीं इस सीट पर कांग्रेस के ग़ुलाम अहमद मीर, नेशनल कॉन्फ्रेंस जस्टिस ..

फिल्मों की रेटिंग का बाज़ार या देश के दुश्मनों के हाथों में एक औज़ार

  पूरे देश में अपनी कला के दम पर बॉलीवुड ने अपना एक स्थान बनाया है I बॉलीवुड की फिल्मों का अवलोकन कर उनकी समीक्षा करने वाले आलोचक और समीक्षक भी बॉलीवुड में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं I इन समीक्षकों के विचार, उनके अवलोकन और उनकी राय फिल्म का भविष्य तय करती हैं I सभी समाचार पत्र, ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल फिल्मों को अपनी रेटिंग्स देते हैं I दुर्भाग्यवश अब ऐसा चलन बन गया है कि जो फ़िल्में , सच्चाई से दूर, देश के विरुद्ध होती हैं, सेना के विरुद्ध होती हैं, देश के नेताओं को, भारत को नकारात्मक ..

उमर अब्दुल्ला का विवादित बयान, कहा- कश्मीर को पाकिस्तान और आतंकवाद से ज्यादा खतरा देश की उन ताकतों से है, जो 370 हटाना चाहते हैं

  नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने अपनी चुनावी रैली के दौरान एक बार फिर देश विरोधी बयान दिया। कुलगाम की कुंड वैली में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए उमर अब्दुल्ला ने कहा कि- "जम्मू कश्मीर को पड़ोसी मुल्क और आतंकियों से उतना खतरा नहीं है। जितना उन ताकतों से है जोकि धारा 370 को हटाना चाहते हैं। जोभी यहां पब्लिक पोस्ट पर आता है उसे स्टेट कांस्टीट्यूशन की शपथ लेनी होती है। लेकिन एंटी स्टेट फोर्सेस को ये उनकी आंख में चुभ रहा है, जोकि यहां की स्पेशल कांस्टीट्यूशनल पॉजिशन को खत्म ..

महबूबा मुफ्ती ने फिर की हद पार, मोदी को दी कश्मीर छोड़ने की धमकी, कहा- “अगर पीएम को लगता है कि कश्मीर घाटे में है, तो कश्मीर छोड़ दो”

     महबूबा मुफ्ती इस चुनाव में देशविरोधी बयानों की तमाम हद पार कर चुकी हैं। आज महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी को कश्मीर छोड़ने की धमकी तक दे डाली। शुक्रवार को वाराणसी में पीएम मोदी आजतक को दिये इंटरव्यू में कहा था कि धारा 370 और 35A की वजह से आर्थिक पिछड़ेपन की शिकार है। इसके जवाब में महबूबा मुफ्ती ने पत्रकारों से कहा कि- "धारा 370, जिसकी बिनाह पर हमारे रिश्ते की बुनियाद है। जिसकी वजह से हमारा इलहाक है मुल्क के साथ..अगर प्राइम मिनिस्टर को लगता है, कि कश्मीर खसारे (घाटे में) में ..

“कांग्रेस नेहरू की, मोहम्मद अली जिन्ना की, राहुल गांधी की पार्टी है, जिनका देश के विकास में, देश की आजादी में सबसे बड़ा योगदान रहा”- कांग्रेसी शत्रु का बयान

  फिल्मों में शत्रुघ्न सिंहा भले ही अपनी डायलॉग डिलीवरी के लिए फेमस रहे हों, लेकिन राजनीति में अक्सर वो अपनी डायलॉगबाज़ी के चलते विवादों में ही रहते हैं। हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिंहा ने एक और विवादित बयान देकर अपनी ही पार्टी को मुश्किल में डाल दिया। मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में एक रैली में कांग्रेसी नेता शत्रुघ्न ने कांग्रेस को मोहम्मद अली जिन्ना की पार्टी बता दिया। बल्कि ये भी कहा कि उनका देश की तरक्की और देश की आजादी में सबसे बड़ा योगदान रहा है। रैली के दौरान मंच पर ..

NDTV ने किसानों की समस्या पर डिबेट के लिए पैनल में बुलाया बॉलीबुड एक्ट्रेस रिचा चड्ढा और रेडियो जॉकी को

   हाल ही में मोदी विरोधी एनडीटीवी का नया तमाशा देखने को मिला, प्राइम टाइम एंकर निधि राजदान के शो में। हाल ही में निधि राजदान ने अपने डिबेट शो The Big Fight में Farm Crisis पर एक डिबेट करायी। जिसमें ऐसे-ऐसे पैनलिस्ट को बुलाया गया, जिसका न तो किसान या खेती से कोई लेना-देना है न ही रोजगार संबंधी किसी विषय से। दरअसल इस डिबेट में खेती की समस्या पर ज्ञान देने बुलायीं गयी थी बी-ग्रेड बॉलीवुड एक्ट्रेस रिचा चड्ढा। जोकि अक्सर लाइमलाइट में अपनी फिल्मों के लिए कम और मोदी विरोधी ट्वीट के चलते ज्यादा ..

यासीन मलिक के समर्थन में खुलकर उतरी कांग्रेस, कांग्रेसी नेता पीसी चाको का बयान- यासीन ने जो साहस दिखाया है, उसका सम्मान करते हैं, नयी दिल्ली किसी को डरा नहीं सकती

 यासीन मलिक को एनआईए ने तिहाड़ में क्या डाला, देश भर में अलगाववादियों के समर्थक की चीखें सुनायीं देने लगीं हैं। अब यासीन मलिक के समर्थन में कांग्रेस खुलेआम उतर चुकी है। केरल से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने यासीन मलिक के समर्थन में बयान दिया है। तिहाड़ जेल में एएनआई की पूछताछ में सहयोग न करने और भूख हड़ताल का ड्रामा करने के सवाल पर न्यूज एजेंसी एएनआई को दिये बयान में पीसी चाको ने कहा कि- “separatism के नाम पर दिल्ली उसको (यासीन मलिक) गन-प्वाइंट पर सरेंडर करने को कह रही है। तो कोई ..

पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने मांगे बालाकोट हमले और एफ-16 मार गिराने के सबूत, कहा- टाइगर मारने का दावा किया है, तो टाइगर दिखाना पड़ेगा

  बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद विपक्षी पार्टियों द्वारा हमले में आतंकियों के मारे जाने के सबूत मांगने का सिलसिला लगातार जारी है। विपक्षी नेता एक-एक वहीं बात दुहराते रहे हैं, जो प्रोपगैंडा पाकिस्तान फैलाता रहा है। सबूत मांगने वालों की लिस्ट में नया नाम जुड़ा है, पूर्व राष्ट्रपति हामिद अंसारी का। बरखा दत्त के इंग्लिश न्यूज चैनल तिरंगा पर करन थापर को दिये इंटरव्यू में हामिद अंसारी ने न सिर्फ मोदी सरकार सवाल उठाये, बल्कि बालाकोट एयरस्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गये इसके सीधे-सीधे सबूत दिये जाने ..

जब कांग्रेस ने खुद बनाया नेहरू का मजाक, सोशल मीडिया पर कांग्रेस मीम पर बने मीम वायरल, आप भी मजा लीजिए

     बीजेपी की सोशल मीडिया टीम पिछले कई दिनों से “AayegaToModiHi” हैशटैग ट्रेंड पर बनाया हुआ है, जाहिर है इसके विरोध में कांग्रेस पर भी दबाव है, तो कांग्रेस ने हैशटैग ट्रेंड शुरू कराना शुरू किया “JayegaToModiHi”. लेकिन इस हैशटैग के साथ कांग्रेस ने एक ऐसा मीम अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया, जोकि कांग्रेस के लिए गले की हड्डी बन गया। इस मीम कांग्रेस ने बीजेपी का मजाक बनाने की कोशिश की, लेकिन मजाक बनकर रह गया कांग्रेस का और इस मजाक में कांग्रेस ने पहले ..

डोमराजा से लेकर मदन मोहन मालवीय की मुंहबोली बेटी तक, ये हैं वाराणसी से उम्मीदवार मोदी के प्रस्तावक

आज पीएम मोदी ने वाराणसी लोकसभा सीट से दूसरी बार पर्चा भरा। पर्चा भरते हुए मोदी के प्रस्तावकों के नाम भी चर्चा का विषय बने हुए हैं। पर्चा दाखिल करते समय मोदी के साथ थे मणिकर्णिका घाट पर रहने वाले डोमराजा जगदीश चौधरी, मदन मोहन मालवीय की मुंहबोली बेटी और 91 वर्षीय रिटायर्ड प्रिंसिपल अन्नपूर्णा शुक्ला, कृषि वैज्ञानिक राम शंकर पटेल और संघ कार्यकर्ता सुभाष गुप्ता। वाराणसी के आम लोगों ने अपने प्रस्तावकों में शामिल कर मोदी ने बेहद साफ संदेश दिया। माहौल उस वक्त काफी भावपूर्ण गया जब पीएम मोदी ने अन्नपूर्णा ..

जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव टालने का प्रस्ताव, राज्यपाल ने चुनाव आयोग को दिया जून के बजाय नवंबर में चुनाव कराने का सुझाव

   जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव 5-6 महीने और टल सकता है, जम्मू कश्मीर सरकार यानि राज्यपाल शासित प्रशासन ने चुनाव आयोग को सुझाव दिया है कि विधानसभा जून महीने में न करायें जायें। बल्कि इनको नवंबर महीने तक टालने का प्रस्ताव रखा है। खबर के मुताबिक दिल्ली में चुनाव आयोग के साथ हुई एक हाई-लेवल मीटिंग में जम्मू कश्मीर के चीफ सेक्रेटरी बीवीआर सुब्रमनयम, चीफ इलेक्ट्रॉरल ऑफिसर शैलेंद्र कुमार, डीजीपी दिलबाग सिंह और होम सेक्रेटरी शालीन काबरा शामिल थे। इस मीटिंग को चुनाव आयोग ने राज्य में चुनाव ..

श्रीनगर में पीपल्स कांफ्रेंस नेता इमरान अंसारी के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी, इमरान के भाई इरफान ने एफिडेविट में घोषित की थी 66 करोड़ की संपत्ति

  आज श्रीनगर के करन नगर इलाके में इनकम टैक्स डिपार्टेमेंट ने एक कमर्शियल कॉम्प्लेक्स पर छापा मारा। खबरों के मुताबिक ये प्रॉपर्टी कॉम्पलेक्स आगा सैयद अल्ताफ की है, जोकि पीपल्स कांफ्रेंस के नेता और पीडीपी सरकार में मंत्री रहे इमरान रजा अंसारी के रिश्तेदार हैं। नाइन पॉइंट टावर्स नामक इस कॉम्पलेक्स में कई कमर्शियल ऑफिस हैं, जिसमें ज्यादातर मेडिकल सर्जरी से संबंधित हैं। इसके थोड़ी देर बाद खबर आयी कि आलमगीरी बाज़ार में एचडीएफसी बैंक के पास एक और बिल्डिंग में आयकर विभाग ने छापा मारा है। जोकि इमरान ..

वाराणसी से मोदी के खिलाफ मैदान में नहीं उतरी प्रियंका गांधी, न्यूट्रल पत्रकार बनें रूदाली, कांग्रेस के खिलाफ ट्विटर पर फूटा गुस्सा

  वाराणसी से कांग्रेस ने पीएम मोदी के खिलाफ पूर्व विधायक अजय राय को उतारने की घोषणा कर दी। फैसले के तुरंत बाद कांग्रेस के फेवरेट पत्रकारों में यूं मायूसी छायी कि उन्होंने कांग्रेस को सरेआम कोसना शुरू कर दिया। दरअसल तमाम कांग्रेसी पत्रकार पीएम मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की उम्मीद लगाये बैठे थे। इसके लिए हफ्तों से प्रियंका गांधी के महान राजनीतिक योद्धा की छवि गढ़ी जा रही है। माहौल तैयार था, लेकिन अंत समय में योद्धा ने ही मैदान छोड़ दिया। फिर क्या था, अब तक प्रियंका गांधी के ..

Liberals के टॉलरेंस का नया नमूना, विस्तारा एयरलाइंस ने कारगिल वॉर हीरो के सम्मान में ट्वीट किया, तो एयरलाइंस के खिलाफ शुरू किया शर्मनाक कैंपेन

 लोकल एयरलाइंस विस्तारा ने आज रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी के सम्मान में एक ट्वीट किया। जिसमें विस्तारा ने कारगिल वॉर हीरो द्वारा विस्तारा फ्लाइट इस्तेमाल करने के लिए हर्ष जताया था। बस फिर क्या था, इनटॉलरेंस का हल्ला मचाने वाले लिबरल्स ने सोशल मीडिया पर विस्तारा के खिलाफ शर्मनाक कैंपेन शुरू कर डाला। कभी विस्तारा से सफर न करने की धमकियां दी जा रही हैं। इस कैंपेन को देखकर आपको हंसी भी आयेगी और लिबरल्स के मन में भरे ज़हर को देखकर क्षोभ भी होगा, जोकि सिर्फ एक आर्मी वेटरन के सम्मान में ट्वीट करने ..

डियर कांग्रेस, डीएसपी अयूब पंडित को श्रीनगर में इस्लामिक स्टेट समर्थक भीड़ ने मारा था, म्यूजिक वीडियो में दिखाया कि शहीद अयूब पंडित को हिंदू भीड़ ने मारा था

  जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान-परस्त इस्लामिक स्टेट की समर्थन भीड़ के हाथों शहीद अयूब पंडित के नाम पर कांग्रेस का फेक प्रोपगैंडा  कांग्रेस इस चुनाव में हिंदू संस्क़ृति को नीचा दिखाने में किसी भी हद तक जाने को तैयार है। कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर एक रैप-म्यूजिक वीडियो अपलोड किया है। जिसमें हिंदू प्रतीकों का शर्मनाक तरीके बेजा इस्तेमाल किया है। त्रिपुंड, भगवा रंग और त्रिशूल जैसे प्रतीकों आतंकवाद का प्रतीक बताया गया है। लेकिन वीडियो के एक हिस्से में कांग्रेस जम्मू कश्मीर पुलिस के शहीद ..

जम्मू कश्मीर में अलगाववादी लिबरल्स का नया प्रोपगैंडा: निशाने पर है अमरनाथ यात्रा, अमरनाथ यात्रा को हिंदूत्ववादी घोषित कर बदनाम करने का साजिश शुरू

  इन दिनों जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है। प्रशासन यात्रा की सफलता के लिए चाक-चौबंद तैयारी में जुटा है। लेकिन इसी बीच जम्मू कश्मीर में सक्रिय देश विरोधी ग्रुप अमरनाथ यात्रा को बदनाम करने और उसको बंद करवाने की साजिश शुरू कर चुका है। इसके तहत कईं संगठन किताबों और सोशल मीडिया के जरिये एक प्रोपगैंडा बुक और उसके कथित रिसर्च के हिस्से को फैलाकर नयी साजिश रची जा रही है। साजिश अमरनाथ यात्रा को कश्मीर विरोधी और हिंदूत्ववादी एजेंडा घोषित करने की। दरअसल जम्मू कश्मीर ..

देशविरोधी बयानों को लेकर महबूबा-अब्दुल्ला परिवार के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज, विश्व हिंदू परिषद् ने की कार्रवाई की मांग

 लोकसभा चुनाव की कैंपेनिंग के दौरान जम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला और फारूख अब्दुल्ला कईं बार देश विरोधी बयान देते रहे हैं। कभी धारा 370 के बहाने देश तोड़ने का बयान, तो कभी अलग प्रधानमंत्री पद का बयान हमें लगातार सुनाई देता रहा। जोकि अभी तक जारी है। इसी को लेकर विश्व हिंदू परिषद् ने चुनाव आयोग में एक शिकायत दर्ज कराते हुए, उमर अब्दुल्ला, फारूख अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर कार्रवाई की मांग की है। अपनी शिकायत में विश्व हिंदू परिषद् ने चुनाव आयोग की चुनाव आचार संहिता का हवाला देते ..

महबूबा ने फिर की हद पार, सुरक्षाबलों पर लगाया एनकाउंटर के दौरान केमिकल के इस्तेमाल का घिनौना आरोप

  चुनावी माहौल में वोटर्स को रिझाने के लिए महबूबा मुफ्ती हर दिन नयी हद पार करती जा रही हैं। धारा 370 हटाने पर भारत से नाता तोड़ने की धमकी देने वाली महबूबा मुफ्ती ने उन सुरक्षाबलों पर निशाना साधा है। जिनकी सुरक्षा के साये में महबूबा मुफ्ती दिन भर आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों में भी बिना किसी डर, बेखौफ प्रचार कर रही हैं। महबूबा मुफ्ती ने एक ट्वीट कर सुरक्षा एजेंसियों पर घिनौना आरोप लगाया है। महबूबा का कहना है कि हरेक इंसान की तरह आतंकी भी मरने के बाद सम्मान का हकदार हैं, आर्म्ड फोर्सेस एनकाउंटर ..

18 अप्रैल को ऊधमपुर और श्रीनगर सीट पर मतदान, मोदी की रैली के बाद ऊधमपुर में बीजेपी की बढ़त, तो श्रीनगर में फारूख अब्दुल्ला की राह मुश्किल

 गुरुवार को जम्मू कश्मीर की 2 लोकसभा सीट के लिए मतदान होगा। इसके लिए प्रशासन ने तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं। करीब 29.81 लाख वोटर्स इन 2 सीटों पर 24 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। ऊधमपुर और श्रीनगर दोनों सीटों पर 12-12 उम्मीदवार मैदान में हैं। बेहतर वोटिंग के लिए प्रशासन ने 4,426 पोलिंग स्टेशन बनायें हैं। वोटिंग सुबह 7 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक होगी।  श्रीनगर लोकसभा सीट पर समीकरण  श्रीनगर लोकसभा सीट के तहत 15 विधानसभा सीट और 3 जिले आते हैं, गांदरबल, श्रीनगर और बड़गाम। ..

J&K में एक और अनोखा गठबंधन, लद्दाख सीट पीडीपी-एनसी ने मिलकर उतारा कांग्रेस और बीजेपी के बुद्धिस्ट कैंडिडेट्स के खिलाफ मुस्लिम उम्मीदवार

 देश में इस बार बीजेपी को हराने के लिए तमाम तरह के गठबंधन मैदान में हैं। लेकिन सबसे अजीब गठबंधन जम्मू कश्मीर में चुनाव मैदान में है। यहां राज्यों की 6 सीटों में हरेक सीट पर अलग गठबंधन है। जम्मू और ऊधमपुर में बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस-पीडीपी और एनसी एक साथ हैं, श्रीनगर में कांग्रेस और एनसी एक साथ है, बारामूला और अनंतनाग में सब एक दूसरे के खिलाफ हैं। छठीं सीट लद्दाख पर अलग ही गठबंधन बना हैं। घाटी में एक-दूसरे के खिलाफ मैदान में उतरे पीडीपी और अब्दुल्ला लद्दाख में मिलकर उम्मीदवार मैदान में ..

“बीजेपी 200 साल राज में रहेगी, कांग्रेस तब भी धारा 370 हटने नहीं देगी”- गुलाम नबी आजाद

  कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर से संबंधित धारा 370 को टेम्पररी आर्टिकल बताते हुआ भारतीय संविधान में जोड़ा था। लेकिन आज करीब 70 साल बाद वहीं कांग्रेसी इसी टेम्परेरी आर्टिकल को सदा-सदा के लिए स्थाई बनाने की धमकियां दे रहे हैं। धारा 370 इस बार जम्मू कश्मीर में सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा है, बीजेपी जहां इसके हटाने के वायदा कर चुकी है। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाब नबी आजाद ने आज श्रीनगर में फिर धारा 370 के समर्थन में जमकर बोले। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि- ..

J&K: कठुआ रैली में गरजे मोदी, अब्दुल्ला-मुफ्ती की अलगाववादियों धमकियों और वंशवाद पर किया जोरदार प्रहार, कहा- “चाहे सारे कुनबे को उतार दो, लेकिन इस देश के टुकड़े नहीं कर पाओगे”

   पीएम मोदी ने आज जम्मू के कठुआ में चुनावी रैली को संबोधित किया। जिसमें पीएम मोदी जम्मू कश्मीर से जुड़े तमाम मुद्दों पर खुलकर गरजे। धारा 370, आतंकवाद, पीडीपी, नेशनल कांफ्रेंस औऱ कांग्रेस की देशविरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर बोले।   आतंकवाद और अलगाववादी राजनीति पर प्रहार  धारा 370 और 35ए को हटाने की स्थिति में भारत से अलग होने की धमकी देने वाले मुफ्ती और अब्दुल्ला परिवार को पीएम मोदी ने सीधी चुनौती दी और कहा- "वो दिन लद गये, जब धमकियों से भारत सरकार दुबक जाती थी। ये ..

बरकरार रहेगी पहले चरण की सीटों में भाजपा की हिस्सेदारी – इंटरैक्टिव नक्शे से उभरी वास्तविक तस्वीर

2019 के चुनावों में विभिन्न दलों के बीच तालमेल के आधार पर आम चुनाव 2014 के मतों के पुनर्वितरण से यह बात सामने आई है कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में नुकसान के बावजूद भारतीय जनता पार्टी पहले चरण की सीटों पर हुए चुनावों में पहले की ही तरह 32 सीटें हासिल कर ल..

सेना पर राजनीति को लेकर वेटरन ऑफिसरों की चिठ्ठी पर बवाल, जनरल रोड्रिग्स और एयर मार्शन सूरी का बयान- “परमिशन के बिना डाला चिठ्ठी में नाम”

  गुरूवार को पहले फेज की वोटिंग के बाद एक चिठ्ठी सोशल मीडिया पर वायरल की गयी, जिसमें कहा गया कि 156 आर्मी ऑफिसरों ने सेना के चीफ कमांडर राष्ट्रपति को एक चिठ्ठी लिखी है। जिसमें कहा गया था कि इस चुनाव में राजनीतिक फायदे के लिए आर्मी का इस्तेमाल किया जा रहा है। चिठ्ठी में खासतौर पर यूपी सीएम योगी का जिक्र किया गया है, जिसमें मोदी की सेना पर आपत्ति जतायी है। इस चिठ्ठी में सेना के चीफ कमांडर होने के नाते जरूरी कार्रवाई करने की मांग की गयी है। इस चिठ्ठी की भाषा ठीक वैसी ही है जैसी कांग्रेस और ..

जम्मू और बारामूला ने दिया आतंक और अलगाववादियों को जवाब, जम्मू में 1 बजे तक भारी मतदान तो बारामूला में भी वोटर्स की लंबी कतारें

  आम चुनाव 2019 के पहले फेज के लिए जम्मू कश्मीर की 2 सीटों पर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से जारी है। लोग सुबह से ही बढ़चढ़कर अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। एक जम्मू सीट पर भारी उत्साह देखा जा रहा है, तो घाटी की बारामूला सीट पर भी लोग आतंक और अलगाववादियों की परवाह किये बगैर वोट कर रहे हैं। जम्मू सीट पर 1 बजे तक करीब 45 फीसदी मतदान हो चुका है। यानि जम्मू शाम तक मतदान का नया रिकॉर्ड स्थापित कर सकता है। जम्मू में क्षेत्रवार मत-प्रतिशत-   बारामूला सीट पर 1 बजे तक करीब 23 फीसदी ..

907 कलाकारों-साहित्यकारों की अपील- मज़बूर नहीं, मज़बूत सरकार चुनिए, पहले फेज के मतदान से पहले मोदी को वोट देने की अपील

 11 अप्रैल को पहले फेज के लिए मतदान होना है, उससे ठीक एक दिन पहले देश के 907 जाने-माने कलाकार और साहित्य जगत से जुड़ी हुई हस्तियों ने मजबूत सरकार यानि मोदी सरकार के लिए वोट देने की अपील की है। Nation First Collective के बैनर तले जारी एक संदेश में पंडित जसराज, उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान, राजा एवं राधा रेड्डी, विश्व मोहन भट्ट, शंकर महादेवन, अनंत महादेवन, पल्लवी जोशी, मालिनी अवस्थी, राहुल रॉय, विवेक ओबरॉय और कश्मीरी आर्टिस्ट और क्राफ्ट्समैन फैयाज अमहद जान जैसी हस्तियों ने स्पष्ट संदेश देते हुए कहा ..

प्रियंका गांधी कश्मीरी हिंदूओं के त्यौहार नवरेह पर दी, ईरानी नववर्ष नौरोज़ की बधाई, लोगों ने दी नकल में भी अकल इस्तेमाल करने की सलाह

  आज से हिंदू कैलेंडर के मुताबिक नव सवंत्सर शुरू हुआ, जोकि देश के तमाम हिस्सों में नव वर्ष के तौर पर मनाया जाता है। अलग-अलग त्यौहारों के रूप में.. जैसे महाराष्ट्र-सौराष्ट्र क्षेत्र में गुढी-पाडवा, कर्नाटका में उगाडी, आसाम में बीहू और कश्मीर में नवरेह। चुनावी माहौल में ऐसे मौकों पर नेताओं के लिए बधाई देना एक मज़बूरी बन जाता है। इसीलिए प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट कर नवरेह की बधाई दी। लेकिन ऐसा लगता है चुनावी हड़बड़ी प्रियंका के सलाहकार उनको नौरोज़ और नवरेह में फर्क बताना भूल गये और प्रियंका ..

NIA ने मीरवाइज़ को भेजा तीसरा समन, दिल्ली हेडक्वार्टर में पेश होने से 2 बार कर चुके हैं इंकार, उमर ने कहा महबूबा ज़िम्मेदार

  नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने 2017 के टेरर फंडिंग केस में पूछताछ के लिए मीरवाइज़ उमर फारूख को एक और समन भेजा है। समन में एनआईए ने उमर फारूख को 8 अप्रैल को दिल्ली स्थित एनआईए हेडक्वार्टर में पेश होने को कहा है। मीरवाइज़ को ये तीसरा समन है, इससे पहले पिछले महीने में मीरवाइज़ दो समन भेजे जाने के बावजूद दिल्ली आने से मना कर चुके हैं। मीरवाइज़ दिल्ली में सिक्योरिटी का खतरा बताकर पूछताछ से बचने की कोशिश कर रहे हैं। अपने वकील के माध्यम से पहले भेजे गये समन के जवाब में मीरवाइज़ ने कहा था ..

जम्मू कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री का किस्सा, दादा शेख अब्दुल्ला का अधूरा ख्वाब पूरा करना चाहते हैं उमर अब्दुल्ला!लेकिन अब ज़माना नेहरू का नहीं मोदी का है...

  लेखक- देवेश खंडेलवाल उमर अब्दुल्ला पिछले 20 सालों से भारतीय राजनीति का हिस्सा हैं। इन दो दशकों में उन्होंने कई बार आतंकियों का समर्थन किया है। एक बार तो वे अलगाववादियों के साथ पाकिस्तान की सीमा में अन्दर तक चले गए। कई विवाद ऐसे भी थे जब उन्हें विधानसभा में और सार्वजनिक रूप से माफी तक मांगनी पड़ी। अबकी बार उमर ने उस किस्से को फिर से याद दिला दिया, जिसकी शुरुआत उनके दादा शेख मोहम्मद अब्दुल्ला ने की थी। उस दौरान विरोध तो हुआ लेकिन समय के साथ समाप्त हो गया। अब समय आया है कि वर्तमान पीढ़ी को ..

गुजरात में भी अमित शाह की रैली में गूंजे जम्मू कश्मीर के नारे, “जहां हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है, सारा का सारा हमारा है”

  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज अहमदाबाद में एक चुनावी रोड शो निकाला। लेकिन अमित शाह यहां भी जम्मू कश्मीर को नहीं भूले। अहमदाबाद के सरखेज इलाके से रोड़ शो की शुरूआत करने से पहले अमित शाह ने जन संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित की इसके बाद अमित शाह ने नारेबाजी शुरू की, “जहां हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है,…. सारा का सारा हमारा है” रोड़ शो में मौजूद जनता ने भी अमित शाह के सुर में सुर मिलाया है। ‘’सारा का सारा ..

बारामूला सीट पर शाह फैज़ल ने किया कट्टरवादी उम्मीदवार इंजीनियर रशीद को समर्थन का ऐलान, कहा- प्यार किया तो डरना क्या

   आगामी लोकसभा चुनाव में कश्मीर घाटी की बारामूला की सीट पर 11 अप्रैल को वोटिंग होनी है। उससे पहले नयी नवेली पार्टी के मुखिया और पूर्व आईएएस शाह फैज़ल ने आजाद उम्मीदवार इंजीनियर रशीद को समर्थन देने की घोषणा कर दी है। इंजीनियर रशीद लंगेट विधानसभा सीट के पूर्व विधायक हैं और इस बार बारामूला से लोकसभा मैदान में हैं। रशीद घाटी में अपने एंटी-कश्मीरी हिंदू रवैये के चलते कुख्यात हैं और जम्मू क्षेत्र में रोहिंग्या घुसपैठियों को बसाने के लिए आंदोलन चलाने के लिए भी जाने जाते हैं।   शाह ..

जम्मू कश्मीर में अब तक 919 वीआईपी नेताओं की सिक्योरिटी वापिस, सरकार को भारी बोझ से राहत

  पुलवामा हमले के बाद जम्मू कश्मीर में सरकार ने सैंकड़ों वीआईपी नेताओं और अलगाववादी नेताओं की सिक्योरिटी वापिस लेने का अभियान छेड़ा था। जिसके बाद अब तक कुल 919 लोगों की सिक्योरिटी वापिस ली जा चुकी है, जिनको बिना किसी खतरे के राजनीतिक प्रसाद के तौर पर सिक्योरिटी मुहैया कराई गयी थी। गृह मंत्रालय के मुताबिक रिब्यू करने के बाद 20 जून 2018 से लेकर अब तक कुल 919 लोगों की सिक्योरिटी वापिस ली गयी है। जिसके चलते 2768 पुलिसकर्मी और 389 गाड़ियां फ्री हुई हैं। जिनका इस्तेमाल राज्य की सुरक्षा के लिए ..

UAE ने मोदी को दिया सर्वोच्च सम्मान, तो इन एक्टिविस्ट-पत्रकारों को नहीं पसंद आया मोदी का सम्मान

यूनाइटेड अरब अमीरात ने पीएम नरेंद्र मोदी को अपने सर्वोच्च सिविलयन अवॉर्ड ज़ाएद मेडल से सम्मानित करने की घोषणा की। देश के लिए ये एक गर्व का विषय था, लेकिन मोदी विरोधी एक्टिविस्ट पत्रकारों में तो जैसे मातम पसर गया। इनमें यूएई की साजिश करार देने लगे, कुछ तो ..

पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले नेशनल कांफ्रेस के बारामूला प्रत्याशी के बेटे पर लगा पैसा बांटने का आरोप, सज्जाद लोन ने की कार्रवाई की मांग

  बारामूला से नेशनल कांफ्रेंस के प्रत्याशी है अकबर लोन, हाल ही में एक चुनावी रैली में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने पर खासे कुख्यात हुए थे। ताज़ा मामले में अकबर लोन एक बार फिर चर्चा में हैं, सज्जाद लोन की पार्टी पीपल्स कांफ्रेंस ने अपने ट्वीटर हैंडल से एक फोटो जारी किया गया है। जिसमें अकबर लोन के बेटे हिलाल लोन की मौजूदगी में मतदाताओं कों वोट के बदले पैसा बांटा जा रहा है। ये घटना बांदीपोरा ज़िले में सुंबल, सोनवारी इलाके की बतायी जा रही है।   पीपल्स कांफ्रेंस के लीडर सज्जाद ..

आर्टिकल 370 के मुद्दे पर कांग्रेस का हाथ पीडीपी-नेशनल कांफ्रेंस के साथ, गुलाम नबीं आजाद का ऐलान- “नहीं हटने देंगे धारा 370”

 मंगलवार को कांग्रेस नेता और पूर्व सदर-ए-रियासत हरि सिंह ने साफतौर पर कहा था कि जम्मू कश्मीर के अधिमिलन के दौरान धारा 370 जैसी कोई शर्त नहीं थी। जिसके बाद महबूबा मुफ्ती समेत कईं कश्मीरी नेताओं ने हरि सिंह के बयान पर आपत्ति जतायी थी। इसके बाद आज डोडा में गुलाम नबीं आजाद से खासतौर पर कांग्रेस का रूख साफ करते हुए कहा कि- “धारा 370 को हटने नहीं दिया जायेगा।“ जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके गुलाम आजाद ने कहा कि- “धारा 370, 70 सालों से जम्मू कश्मीर में रही है, आगे भी रहेगी।”..

कांग्रेस की नयी शरणार्थी पॉलिसी के वायदे के बाद अमित शाह की घोषणा- “5 सालों में रोहिंग्या घुसपैठियों चुन-चुन कर निकाल फेंकेगें”

 जम्मू कश्मीर के सुंदरबनी में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह घोषणा करते हुए कहा कि “जम्मू क्षेत्र रोहिंग्या शरणार्थियों के जरिये डेमोग्राफी चेंज करने की कोशिश की जा रही है। लेकिन मोदी सरकार ऐसा होने नहीं देगी। अगली मोदी सरकार आने पर 5 सालों में एक-एक रोहिंग्या शरणार्थी को चुन-चुन कर बाहर निकालने का काम मोदी सरकार करेगी।” देखिए अमित शाह के भाषण के अंश-    गौरतलब है कि जम्मू क्षेत्र में अवैध रोहिंग्या घुसपैठियों की आबादी काफी तेज़ी से बढ़ रही है। जोकि जम्मू शहर के आसपास ..

आर्टिकल 370 को लेकर करण सिंह और महबूबा में राजनीतिक घमासान, करण सिंह ने कहा- “370 अधिमिलन की शर्त नहीं थी”, महबूबा की धमकी- “Accession की शर्ते खत्म हुईं तो जम्मू कश्मीर का रिश्ता भी खत्म हो जायेगा”

 जम्मू कश्मीर में धारा 370 को हटाने ले लिए जम्मू कश्मीर में राजनीतिक दलों के बीच तलवारें खींची हुईं हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 370 और 35ए को हटाने के इशारा किया तो कश्मीर घाटी के नेता महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला धमकी वाली राजनीति पर उतारूं हैं। महबूबा मुफ्ती और अब्दुल्ला फैमिली 370 और 35ए अधिमिलन की वक्त तय शर्त घोषित करने की कोशिश में लगे हैं। लेकिन इस बीच मंगलवार को जम्मू कश्मीर के सदर-ए-रियासत रह चुके करण सिंह ने स्पष्ट कर दिया कि अधिमिलन के वक्त जम्मू कश्मीर की कोई शर्त नहीं थी। ..

रेप आरोपी एक्टिविस्ट पीडीपी में शामिल, खुद महबूबा मुफ्ती ने किया स्वागत

चुनाव एक सीज़न होता है पार्टी में नये नेताओं-कार्यकर्ताओं की भर्ती का। इसी कड़ी में जम्मू कश्मीर में पीडीपी ने एक ऐसे नाम को पार्टी में शामिल किया। जिसपर रेप का जघन्य आरोप लगा है। कठुआ रेप केस के बाद चर्चा में आये एक्टिविस्ट तालिब हुसैन आपको याद ही होंगे। सोमवार को तालिब हुसैन पीडीपी में शामिल हो गये, हैरानी ये देखकर हुई कि एक रेप के आरोपी का खुद महबूबा मुफ्ती ने स्वागत किया। बल्कि एक कदम आगे बढकर महबूबा मुफ्ती ने एक रेप आरोपी की शान में कसीदे भी गढ़े।       दरअसल ..

कांग्रेस का हाथ अलगाववादियों के साथ, मेनिफेस्टो- AFSPA में करेंगे बदलाव, घाटी से हटायेंगे सेंट्रल फोर्स, धारा 370 में बदलाव नहीं होने देंगे और सिर्फ बातचीत से निकालेंगे आतंक का हल

  कांग्रेस ने 2019 चुनाव को लेकर अपना मेनिफेस्टो जारी कर दिया है। स्वाभिमान कैटेगरी में रखते हुए जम्मू कश्मीर को लेकर कांग्रेस ने जो मेनिफेस्टो तैयार किया है, वो ऐसा लगता है किसी अलगाववादी पार्टी का मेनिफेस्टो हो, क्योंकि इसमें सिर्फ वो बातें शामिल है जिसकी मांग सालों से अलगाववादी करते आयें हैं। कांग्रेस का मेनिफेस्टो न सिर्फ वो तमाम मांगे अपने मेनिफेस्टो में शामिल की हैं, बल्कि कश्मीरी पंडित, इस्लामी आतंकवाद और पाकिस्तान परस्त अलगाववाद पर एक शब्द भी मेनिफेस्टो में डाला है।   धारा ..

गौतम गंभीर ने लगाया उमर अब्दुल्ला की अलग पीएम की मांग वाले बाउंसर पर छक्का

  सोमवार को उमर अब्दुल्ला ने अपने चुनावी भाषण में जम्मू कश्मीर में सीएम की जगह पीएम पद बनाने का एक चुनावी बाउंसर फेंका था। जिसपर पर आज क्रिकेटर और बीजेपी नेता गौतम गंभीर ने ट्वीट कर एक शानदार छक्का जड़ दिया। गौतम गंभीर ने अपने Sarcastic Tweet मे..

नेहरू का सबसे बड़ा राजनीतिक घोटाला: खुद पीएम रहते नहीं होने दिये जम्मू कश्मीर में लोकसभा चुनाव, 1967 में हुआ था पहला चुनाव

 क्या आप जानते हैं कि जम्मू कश्मीर राज्य में पहली बार डायरेक्ट लोकसभा चुनाव 1967 में हुआ था। आज़ादी के ठीक 20 साल बाद..। कारण सिर्फ एक है देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू। उनके शासन काल के दौरान पहली 3 टर्म में जम्मू कश्मीर से लोकसभा सदस्य चुने नहीं जाते थे। बल्कि नामित किये जाते थे। कुछ-कुछ राज्य सभा चुनावों की तरह..।  आप भी हैरान होंगे कि वास्तव में हमने ये तथ्य कभी बताया ही नहीं गया। क्यों इसके बारें में चर्चा नहीं कि गयी आधुनिक इतिहासकारों द्वारा। सवाल कईं हैं, जवाब ..

100 फिल्म मेकर्स ने की मोदी को हराने की अपील, लेकिन ये कौन हैं आप जानते हों तो हमें भी बतायें, गूगल ने भी किया पहचानने से इंकार

  2014 में लोक सभा चुनाव के दौरान बॉलीवुड के 50 से ज्यादा फिल्म मेकर्स ने मोदी के खिलाफ वोट देने की अपील की थी। अपील करने वालों की लिस्ट में कईं बड़े नाम जैसे इम्तियाज़ अली, महेश भट्ट, ज़ोया अख्तर, नंदिता दास और शुभा मुद्गल शामिल थे। लेकिन नतीज़ा क्या हुआ, वो सबके सामने है। इस बार फिर देश के 100 फिल्मकारों ने मिलकर अपील की है कि मोदी के खिलाफ वोट करें। अपील करने वालों की लिस्ट artistuniteindia.com पर जारी की गयी है।   लेकिन मज़ेदार बात ये कि इस बार किसी बॉलीवुडिया एक्टिविस्ट ..

धारा 370 और 35A का जम्मू कश्मीर के अधिमिलन से कोई लेना-देना नहीं है, जनता को गुमराह कर रहे हैं उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती

धारा 370 और 35A का जम्मू कश्मीर के अधिमिलन से कोई लेना-देना नहीं है, जनता को गुमराह कर रहे हैं उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती..

शेखर गुप्ता जी पहले तय कर लीजिए, अखिलेश यादव लूज़र हैं या विनर.....!! द प्रिंट की क्रांतिकारी पत्रकारिता

 चुनावों के वक्त किसी भी नेता और पार्टी के पक्ष में ओपिनियन आर्टिकल छापा जाना कोई नहीं बात नहीं है। ज्यादातर मामलों में ये ओपिनियन आर्टिकल या स्पोंसर्ड यानि पेड होते हैं या फिर पॉलिटिकल आकाओं को खुश करने के लिए ऐसे आर्टिकल छापे जाते हैं। लेकिन द प्रिंट ने एक नयीं नज़ीर पेश की। 10 दिनों के अंतर में द प्रिंट ने सपा नेता अखिलेश यादव को लेकर 2 आर्टिकल छापे। दोनों एक दूसरे से अलग।  18 मार्च को द प्रिंट में छापे आर्टिकल में कहा कि अखिलेश यादव चुनाव शुरू होने से पहले ही लूजर साबित होते हैं। ..

जम्मू में कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ कांग्रेसी लीडर और पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर शाम लाल शर्मा बीजेपी में शामिल

  जम्मू और ऊधमपुर लोकसभा सीटों पर कांग्रेस की संभावनाओं के लिए खतरा बढ़ गया है। आज कांग्रेस के बड़े नेता और पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर रहे शामलाल शर्मा ने बीजेपी का दामन थाम लिया। शामलाल शर्मा अपने सैंकड़ों समर्थकों के साथ बीजेपी के त्रिकूटानगर ऑफिस में बीजेपी में शामिल हो गये। शाम लाल शर्मा कांग्रेस की कश्मीर घाटी केंद्रित नीति से नाराज़ थे। इसके अलावा शामलाल शर्मा जम्मू सीट से भी कांग्रेस के टिकट के मजबूत दावेदार थे। लेकिन उनको टिकट न देकर कांग्रेस ने रमन भल्ला पर दांव खेला। जिसके बाद लगभग ..