पर्यटन

कश्मीर घाटी में लौट रही है पर्यटकों की रौनक, ट्रैवल एडवायज़री वापिस लेने के बाद बड़ी खुशखबरी

   10 अक्टूबर को जम्मू कश्मीर प्रशासन द्वारा कश्मीर घाटी में पर्यटकों की आमद पर रोक लगाने वाली एडवायज़री वापिस लेने के बाद उसका असर धीरे-धीरे दिखायी देने लगा है। कश्मीर घाटी के टूरिस्ट स्पॉट्स पर पर्यटकों की जमावड़ा धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। फिलहाल सबसे ज्यादा पर्यटक शेफर्ड वैली यानि पहलगाम में पहुंच रहे हैं। पर्यटकों की वापसी से टूरिज्म इंडस्ट्री में दोबारा जान आने लगी है।  दिल्ली से पहलगाम घूमने पहुंचे राजकुमार सागर ने एएनआई को बताया कि "एजवायज़री हट गयी है, लोग पहलगाम आने ..

नवरात्र में मां वैष्णों देवी के भक्तों को केंद्र सरकार का तोहफा, नई दिल्ली से कटड़ा के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रैस की शुरूआत

     नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर और तमाम भारतवासियों को एक और शानदार तोहफा दिया। यहां नई दिल्ली से कटड़ा तक डायरेक्ट चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रैस ट्रैन को हरी झंडी दिखाकर नयी यात्रा का शुभारंभ किया। इस मौके पर केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह मौजूद थे।    ये ट्रेन मंगलवार को छोड़कर बाकी 6 दिन चलेगी। इससे दिल्ली और कटड़ा के बीच की दुर्गम दूरी घटकर 8 घंटे रह गयी है। ये ट्रेन नई ..

श्री माता वैष्णों देवी प्राकृतिक गुफा का भव्य सोने का द्वार बनकर तैयार, नवरात्र की तैयारियां जोरों पर

  श्री माता वैष्णों देवी धाम में पवित्र प्राकृतिक गुफा के द्वार पर भव्य स्वर्ण द्वार बनकर तैयार है। जल्द ही श्रद्धालू इस भव्य सोने के द्वार के दर्शन कर सकेंगे। ये एक स्थायी द्वार है, जोकि मौजूदा मार्बल के द्वार को विस्थापित करेगा। जिसका काम 3 महीने पहले शुरू हुआ था, जो अब पूरा होने वाला है। द्वार सिल्वर यानि चांदी से बना है, जिस पर सोने की खास कोटिंग चढ़ाई गयी है। इस काम को पूरा करने के लिए 20 से ज्यादा शिल्पकार चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं।  श्री माता वैष्णों देवी श्राइन बोर्ड ..

अमरनाथ यात्रा के बाद मचैल यात्रा भी निलंबित, श्रद्धालु अब देवी दुर्गा का नहीं कर सकेंगे दर्शन

 जम्मू कश्मीर राज्य में आतंकी खतरे को देखते हुए अमरनाथ यात्रा के बाद अब मचैल तीर्थयात्रा को रोक दिया गया है। आतंकी खतरों को देखते हुए किश्‍तवाड़ जिला आयुक्त ने मां दुर्गा के मंदिर तक होने वाली मचैल यात्रा भी निलंबित कर दी है। किश्‍तवाड़ के जिला आयुक्त अंग्रेज सिंह राणा ने इस बात की जानकारी दी है। बता दें कि इससे पहले अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरे की खुफिया सूचना मिलने के बाद राज्य सरकार की तरफ से एडवाइजरी जारी कर अमरनाथ यात्रा भी रोक दी गई है।   जम्मू कश्मीर के गृह सचिव ..

अमरनाथ यात्रा, 22 दिनों में ही टूटा पिछले साल के 60 दिनों के यात्रियों की संख्या का रिकॉर्ड, हाईवे पर संदिग्ध वस्तु मिलने पर एहतियातन रूकी यात्रा

   आंकड़ें बताते हैं जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के इंतजामों का नतीजा है कि अमरनाथ यात्रा इस बार बेहद सफल रही है। यात्रा के 22 वें दिन कुल 13,777 श्रद्धालुओं ने अमरनाथ गुफा में बाबा अमरनाथ के दर्शन किये। इसी के साथ 22 दिनों में ही पिछले साल के दर्शन करने वाले कुल यात्रियों की संख्या का रिकॉर्ड भी टूट गया। इस साल अब तक कुल 2,85,381 यात्री गुफा के दर्शन कर चुके हैं। जबकि पिछले साल 60 दिनों की अवधि में कुल में 2,85,006 यात्रियों ने यात्रा पूरी की थी। जाहिर है इस बार पिछले कई सालों ..

ट्रैफिक बैन के झूठ का सहारा लेकर कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के खिलाफ माहौल बना रहे हैं कश्मीरी नेता और अलगाववादी

कश्मीर घाटी में 8 जुलाई को अलगाववादियों द्वारा हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने की बरसी बंद का ऐलान किया गया था। जिसके बाद यात्रियों के सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अमरनाथ यात्रा एक दिन के लिए रोक दी गयी। खुफिया सूचना के बाद आतंकी हमले की आशंका को ..

अमरनाथ यात्रा को कुछ यूं आसान बना रहे हैं ITBP के जवान, यात्रा के दौरान सैंकड़ों श्रद्धालुओं के लिए जीवनरक्षक साबित हुए ये हिमवीर

   जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा पूरे उत्साह और श्रद्धा के साथ जारी है। बालटाल और पहलगाम रूट के जरिये यात्रा को पूरी तरह सुरक्षित बनाने के लिए प्रशासन ने खासे इंतजाम किये है। गांदरबल जिले से होते हुए 12 हजार फीट तक की ऊंचाई वाला 14 किमी लंबा बालटाल रूट एक बेहद दुर्गम रास्ता है। जिस रूट पर भूस्खलन, शूटिंग स्टोन से, पत्थरों से, बहते नालों से, बेहद फिसलन वाला रास्ता है, जोकि बुजुर्ग श्रद्धालुओं, खासतौर पर महिलाओं के लिए और दुर्गम हो जाता है, लेकिन आईटीबीपी के जवानों ने इस रूट को आम श्रद्धालुओं ..

गांदरबल, मां खीर भवानी मंदिर में अष्टमी मेले की धूम, हज़ारों कश्मीरी हिंदुओं ने किये दर्शन, देखिए तस्वीरें

  उत्तरी कश्मीर के गांदरबल के तुलामुल्ला गांव में स्थित मां खीर भवानी के मंदिर में आज वार्षिक अष्टमी मेला धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस अवसर पर हजारों प्रवासी कश्मीरी हिन्दू श्रद्धालू माँ के दर्शन और पूजा-अर्चना के लिए पहुंचे। रागनी का खीर भवानी मंदिर कश्मीरी पंडितों के लिए सबसे पवित्र धार्मिक स्थल माना जाता है। अष्टमी की मौके पर मंदिर को विशेष तौर पर भव्य रूप से सजाया गया है। एक अनुमान के मुताबिक रविवार शाम तक देश के अलग-अलग हिस्सों से छह हजार से 10 हजार तीर्थ यात्रियों के यहां पहुंचे। ..

टूरिस्ट गाइड राऊफ डार बना कश्मीर का असली हीरो, जिसने पहलगाम में खुद की जान गंवाकर 7 टूरिस्ट की जान बचायी, शहीद होकर कायम की कश्मीरियत की असली मिसाल

  बीते शुक्रवार को जब श्रीनगर में कुछ कश्मीरी नौजवान जामा मस्जिद के बाहर इस्लामिक स्टेट के नारे और झंडे लहरा रहे थे। उसी वक्त शाम साढ़े 6 बजे श्रीनगर से करीब 80-90 किमी दूर पहलगाम में एक नौजवान अपनी जान दांव पर लगाकर लिद्दर नदी में पलटी राफ्टिंग बोट के 7 टूरिस्टों की जान बचा रहा था। 35 साल के रऊफ अहमद डार ने सातों टूरिस्टों को तो बचा लिया, लेकिन इस बीच राऊफ की लाइफ जैकेट खुलकर पानी में बह गयी है, वो खुद को नदी के एक भंवर से नहीं बचा पाया। रऊफ की लाश 12 घंटों बाद राफ्टिंग पॉइंट से 7 किमी ..

महादेव की सनातन भूमि जम्मू कश्मीर में आइये दर्शन करिये... सुद्धमहादेव तीर्थ के, जिसकी महत्ता द्वादश ज्योतिर्लिंग के समान है

  जम्मू कश्मीर सदियों से ऋषि मुनियों की तपस्थली रहा है । आपको जम्मू कश्मीर में घूमने पर इस बात के पर्याप्त प्रमाण मिलते हैं । राज्य के सबसे छोटे हिस्से, कश्मीर में श्री अमरनाथ स्वामी जी की गुफा , दूसरे सबसे बड़े हिस्से में माता वैष्णो देवी की गुफा , शिवखोड़ी , पुढमंडल और सांसे बड़े हिस्से लद्दाख में गुरुद्वारा पठार साहिब आदि महत्वपूर्ण तीर्थ स्थान है, ऐसा ही एक तीर्थ स्थल है “ सुद्धमहादेव”। सुद्धमहादेव” जम्मू से ११० किमी उत्तर दिशा की और पर्वतों के बीच स्थित है । यहाँ पर ..

सदियों से आदि गुरू शंकराचार्य से जुड़ी आस्था का केंद्र रहा है श्रीनगर, इस बार भी शंकराचार्य जयंती पर श्रीनगर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

 श्रीनगर में स्थित शंकराचार्य मंदिर वो कड़ी है, जो सदियों से भारत के सनातन इतिहास की आस्था का केंद्र रहा है। जिस पहचान को मुस्लिम आक्रांता और आधुनिक मुस्लिम आतंकी चाह कर भी मिटा नहीं पाये। हर साल आदि गुरू शंकराचार्य के जन्मदिवस पर ये आस्था केंद्र भारतीय सनातन चेतना का केंद्र बन जाता है। हर वर्ष पूरे देश से श्रद्धालु शंकराचार्य जयंती मनाने श्रीनगर, जम्मू कश्मीर आते हैं I राष्ट्रीय एकता, शांति और एक शक्तिशाली भारत के लिए प्रार्थना करते हैं I इस बार भी 9 मई को देशभर से आये हज़ारों लोग शंकराचार्य ..

अमरनाथ धाम यात्रा का रजिस्ट्रेशन शुरू, 1 जुलाई से शुरू होगी यात्रा

 बाबा अमरनाथ धाम के दर्शन के इच्छुक श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है, कि बालताल और चंदनवारी रूट से यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है। 46 दिनों चलने वाली ये यात्रा मासिक शिवरात्रि के दिन 1 जुलाई से शुरू होगी और श्रावण पूर्णिमा के दिन 15 अगस्त को सम्पन्न होगी। जो भी श्रद्धालू इस साल बाबा अमरनाथ के दर्शन के इच्छुक हैं। उनको अभी रजिस्ट्रेशन कराना होगा। बिना परमिशन यात्रा की इजाजत नहीं होगी।  रजिस्ट्रेशन कराने के लिए श्रद्धालू पंजाब नेशनल बैंक, जे एंड के बैंक और यस बैंक की 440 आधिकारिक ..

करतारपुर साहिब कॉरिडोर के शानदार पैसेंजर टर्मिनल का प्रोजेक्ट पास, 190 करोड़ की लागत से होगा तैयार

 केंद्रीय गृह मंत्रालय ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर के लिए पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग कॉम्पलेक्स का अल्ट्रा-मॉडर्न बिल्डिंग का प्रोजेक्ट पास कर दिया है। जोकि पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक के पास करतारपुर साहिब कॉरिडोर प्रोजेक्ट के तहत बनेगी। इस बिल्डिंग में पाकिस्तान में करतारपुर साहिब जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए तमाम आधुनिक सुविधाएं मौजूद होंगी। ये कॉम्पलेक्स का डिज़ाइन खालसा चिंह खंडे से प्रेरित है। जिसका मतलब है एकता-अखंडता और मानवता।  इस कॉम्पलेक्स की लागत करीब 190 करोड़ ..

कश्मीर में हुई बर्फ़बारी,तापमान में गिरावट

कश्मीर में हुई बर्फ़बारी,तापमान में गिरावट..

Real Kashmir FC को 3 सालों के लिए 2 करोड़ की सहायता, राज्य में खेलों बढ़ावा देने के लिए गवर्नर की पहल

 जम्मू कश्मीर के फुटबॉल क्लब Real Kashmir FC ने पिछले 2 सालों में वो मुकाम हासिल किया है, जो देश के दूसरे फुटबॉल क्लब दशकों तक नहीं कर पाये। Real Kashmir FC ने देश के मोहन बागान, मोहम्मडन स्पोर्टिंग क्लब, चर्चिल ब्रदर्स और एफसी गोवा जैसे बड़े फुटबॉव क्लबों की टीम को धूल चटाई है। 2 सालों में ही Real Kashmir FC ने घाटी में खासी पहचान बनाई है। लोग उत्साहित है कि घाटी में दोबारा खेलों के प्रति युवाओं का रूझान बढ़ रहा है। घाटी में हुए फुटबॉल मैचों को देखने के लिए हज़ारों लोग स्टेडियमों में उमड़ते ..

कश्मीर घाटी में आई टूरिस्टों की बहार, इस साल पहुंचे 9 लाख टूरिस्ट

साल 2018 कश्मीर घाटी में टूरिज्म के लिहाज से बेहद शानदार रहा। इस साल घाटी में करीब 9 लाख टूरिस्ट घाटी की खूबसूरती का लुत्फ़ उठाने पहुंचे। इनमे करीब साढ़े 8 लाख सैलानी देशी थे, जबकि करीब 50 हज़ार से ज़्यादा विदेशी सैलानी कश्मीर आये। जाहिर है राज्य प्रशासन भी इससे पूरा उत्साहित है। राज्यपाल के सलाहकार खुर्शीद अहमद गनाई ने श्रीनगर में टूरिस्ट्स ऑपरेटर और टूरिज्म बिज़नेस से जुड़े लोगों के साथ इस पर ख़ुशी जाहिर की। खुर्शीद अहमद गनाई ने बताया कि क्रिसमस और नए साल के मौके पर गुलमर्ग के तमाम होटल हाउसफुल ..

3 घंटे का मुश्किल सफर अब 5 मिनट में पूरा, वैष्णों देवी और भैरों मंदिर के बीच रोप-वे सर्विस का उद्घाटन

 मां वैष्णों देवी के दर्शन के लिए पहुँचने वाले श्रद्धालुओं के लिए एक बड़ी खबर है। माँ वैष्णों देवी के दर्शन के लिए पहुँचने वाले जो श्रद्धालु भैरों मंदिर के दर्शन करना चाहते हैं. वो अब रोप-वे के जरिये आ-जा सकेंगे। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आज रोप-वे सर्विस का विधिवत उद्घाटन कर दिया। इसके बाद ये आम पौब्लिक के लिए खोल दी जायेगी। रोप-वे का ट्रायल कई हफ़्तों से चल रहा था।  रोप-वे सर्विस 3 घंटे का मुश्किल सफर अब 5 मिनट में पूरा टिकट- 100 रूपये प्रति व्यक्ति    &n..

“साउथ अफ्रीका से ज्यादा सेफ है कश्मीर, मिलिट्री तैनाती की निगेटिव पब्लिसिटी”- इंटरनैशनल फोटोग्राफर शैंटेल फ्लोरस

  फोटोग्राफी के लिए दुनियाभर में अवॉर्ड जीतने वाली शैंटेल फ्लोरेस जब जम्मू कश्मीर घूमने का फैसला किया, तो उनके मन में कई सवाल थे, कश्मीर घाटी की निगेटिव पब्लिसिटी के चलते। लेकिन जब वो श्रीनगर एयरपोर्ट पर उतरी तो शैंटेल का सारा डर काफूर हो गया। शैंटेल के मुताबिक- “मुझे कश्मीर में रहने के दौरान कोई प्रॉबल्म नहीं हुई, मैं साउथ अफ्रीका से हूं औऱ वहां रहते हुए गन-कल्चर की वजह से मैं भी उसकी एक पीड़ित रही हूं। लेकिन कश्मीर मुझे ज्यादा सेफ लगा, यहां मिलिट्री की भारी तैनाती ते बावजूद। ..

Statue of Unity: पर्यटकों की उमड़ी रिकॉर्ड भीड़, लगा 10 किमी लंबा जाम

 अहमदाबाद, गुजरात में बने सरदार पटेल के स्टेच्यू को देखने के लिए पर्यटकों की भीड़ ने सारे रिकॉर्ड्स तोड़ दिये हैं। पिछले 10 दिनों में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए करीब 90 हज़ार से ज्यादा पर्यटक पहंचे हैं। जिससे सरदार पटेल राष्ट्रीय एकता ट्रस्ट को अब तक करीब 2 करोड़ रूयये की कमाई हो चुकी है।     अधिकारियों के मुताबिक स्टेच्यू के हार्ट के पास बनी गैलरी को देखने के लिए रोज़ाना करीब 5 हज़ार लोगों के जाने की व्यवस्था है। लेकिन तय संख्या से दो-तीन गुना लोग गैलरी देखने ..

शारदा पीठ : भारतीय सभ्यता व संस्कृति का केन्द्र

शक्तिसंगमतन्त्र के सातवें पटल में भारतवर्ष के विभिन्न प्रदेशों के परिमाण को बताया गया है । इसी क्रम में कश्मीर के परिमाण को बताते हुए कहा गया है कि शारदापीठ से प्रारम्भ करके कुङ्कुम (वर्तमान का कष्टवार या किश्तवाड) तक का प्रदेश कश्मीर है । शारदामठमारभ्य कुङ्कुमाद्रितटान्तगः । तावत्कश्मीरदेशः स्यात् पञ्चाशद्योजनात्मकः ॥7.22॥ शारदापीठ का भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति के साथ एक पुरातन सम्बन्ध है । शारदा, भारत की ज्ञान-परम्परा की अधिष्ठात्री देवी हैं । शारदा का ..

जानें बाबा अमरनाथ की कहानी

ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन से शुरू होने वाली वार्षिक अमरनाथ यात्रा श्रावण पूर्णिमा के दिन खत्म होती है जो इस साल 28 जून से शुरू होकर 26 अगस्त रक्षाबंधन के दिन खत्म होगी। अमरनाथ यात्रा का आयोजन करना अत्यधिक सुरक्षा वाला काम है और फिलहाल कश्मीर घाटी में बिगड़ती स्थिति ने इस साल यात्रा पर खतरे का अंदेशा बढ़ा दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा स्थिति का जायजा लेने के लिए हाल ही में घाटी का दौरा किया था।..